Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

2019 चुनाव से पहले दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में अमित शाह का बड़ा बयान

नई दिल्ली: राजधानी के रामलीला मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में शुक्रवार को राष्ट्रीय अधिवेशन का उद्घाटन किया गया। इस दौरान मोदी सरकार के कई वरिष्ठ मंत्री और नेता-कार्यकर्ता शामिल रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि, मोदी सरकार ने वर्षों से चली आ रही आरक्षण बिल की मांग को दोनों सदनों में पास कराकर करोड़ों युवाओं का सपना साकार किया है। बता दें कि हाल ही में आर्थिक आधार पर सवर्ण वर्ग के लिए सरकारी नौकरी और शिक्षा में 10 प्रतिशत आरक्षण देने का ऐलान किया है। हालांकि संसद से मंजूरी मिलने के बाद इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है।

राष्ट्रीय अधिवेशन ने शाह ने कह कि, जीएसटी लागू होने के बाद से हर जीएसटी बैठक में एक के बाद एक वस्तुओं के दाम कम करने और जीएसटी के सरलीकरण के लिए हमेशा काम किया गया है। उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली के उस ऐलान को भी दोहरा जिसमें उन्होंने जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद बताया था। उन्होंने कहा था कि, अब 40 लाख रुपये तक सालाना टर्नओवर वाले छोटे व्यापारियों के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी नहीं है।

उन्होंने कहा कि, 1.5 करोड़ तक टर्नऑवर वाले कंपोजिशन प्लान स्वीकार करने वाले व्यापारियों को सिर्फ 1% टैक्स देना होगा। ये करोड़ों छोटे व्यवसायियों और लघु उद्योगों के लिए ये बड़ा फैसला है। कार्यक्रम को लेकर ये बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि, ये अधिवेशन भारतीय जनता पार्टी के देशभर में फैले कार्यकर्ताओं के लिए संकल्प करने का अधिवेशन है। जिस भारत की कल्पना विवेकानंद जी ने की थी उस भारत को हम मोदी जी के नेतृत्व में बनाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं।

शाह ने कहा कि, अटल जी जनसंघ के समय से ही देश की राजनीति के ध्रुव तारे की तरह चमके थे, भाजपा के संस्थापक अध्यक्ष थे। देश के हर कौने में भाजपा को पहुंचाने के लिए अटल जी और आडवाणी जी की जोड़ी ने जो संघर्ष किया है, ऐसा संघर्ष शायद ही हुआ हो। उन्होंने कहा कि, 2019 का चुनाव वैचारिक युद्ध का चुनाव है। दो विचारधाराएं आमने सामने खड़ी है। 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसीलिए मैं मानता हूं कि इसे जीतना बहुत महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि, 2019 का चुनाव भारत के गरीब के लिए बहुत मायने रखता है, स्टार्टअप को लेकर निकले युवाओं के लिए ये चुनाव मायने रखता है, करोड़ों भारतीय जो दुनिया में भारत का गौरव देखने चाहते हैं उनके लिए ये चुनाव मायने रखता है। वहीं विपक्ष एकजुटता पर हमला बोलते शाह ने कहा कि जो एक दूसरे का मुंह न देखने वाले आज हार के डर से एक साथ आ गए हैं, वो जानते हैं कि अकेले नरेंद्र मोदी जी को हराना मुमकिन नहीं है।

शाह ने कहा कि, लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में 73 से 74 सीटें भाजपा की होगी। 2014 में 6 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें थीं और 2019 में 16 राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं। 5 साल के अंदर भाजपा का गौरव तेज गति से बढ़ा है। हमने गरीबों के कल्याण के लिए बहुत सारे काम किये हैं, उसके साथ-साथ हमारे देश की सुरक्षा भी महत्वपूर्ण है। 2014 से पहले देश के जवानों की हत्या कर दी जाती थी, आये दिन बॉर्डर से घुसपैठ होती थी, इस प्रकार की स्थिति में हमने देश संभाला था।

अमित शाह ने आगे कहा कि, जवानों को 'वन रैंक, वन पेंशन' देकर नरेंद्र मोदी सरकार ने उन्हें सम्मान देने का काम किया है।  हमारी सरकार ने गोली का जवाब गोले से दिया है। मोदी सरकार ने देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करने का काम किया है। 2014 तक 60 करोड़ घर ऐसे थे जिनके पास अपना बैंक अकाउंट नहीं था, लेकिन मोदी जी ने एक झटके में ही इन सभी का अकाउंट बैंक में खोल दिया।

मोदी सरकार की अन्य योजनाओं की बात करते हुए शाह ने कहा कि, साढ़े चार सालों में 9 करोड़ शौचालय बनाकर माताओं और बहनों को शर्म से मुक्त करके सम्मान के साथ जीने का अधिकार भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने दिया है। मोदी सरकार ने बीते पांच साल में 6 करोड़ गरीब माताओं को गैस का सिलेंडर देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि, आज देश में नक्सलवाद और माओवाद लगभग समाप्त होने को है। 218 % आतंकियों को मारने में वृद्धि का आंकड़ा मोदी सरकार में पार हुआ है।

loading...