Breaking News
  • आज होगा योगी सरकार के कैबिनेट का विस्तार, नए चेहरों को मिल सकती है जगह
  • G7 शिखर सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने की पीएम मोदी से कश्मीर मुद्दे पर वार्ता की पेशकश
  • MP के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन, राज्य में तीन दिवसीय शोक की घोषणा की
  • INX मीडिया मामले में चिदंबरम पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, कुछ देर में SC में सुनवाई

CBI के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव को सुप्रीम कोर्ट ने दी ऐसी सजा, सुनकर दंग रह जाएंगे!

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने मंगवार को ‘अदालत की अवमानना’ से संबंधित मामले में कड़ा रूख अख्तियार करते हुए सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक एम. नागेश्वर राव को दोषी करार दिया। कोर्ट ने नागेश्वर राव को एक लाख जुर्माना भरने की सजा सुनाई है।

साथ ही कोर्ट ने कहा कि आज जब तक अदालत चलती रहेगी, नागेश्वर राव अदालत में ही एक कोने में बैठे रहेंगे। यह पूरा मामला बिहार के मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामले की जांच कर रहे एजेंसी के अधिकारी के तबादले से जुड़ा है।

न भड़के हिंसा इसलिए लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके गए अखिलेश, सीएम योगी का बयान

दरअसल, एम. नागेश्वर राव के अंतरिम निदेशक रहते हुए आश्रय गृह मामले की जांच कर रहे तत्कालीन अतिरिक्त निदेशक ए.के.शर्मा का तबादलता कर दिया गया था। वह आश्रय गृह मामले की जांच की अगुवाई कर रहे थे और कोर्ट ने उनका तबादला किए जाने से मना किया था।

 

लेकिन इसके बाद भी तबादला किए जाने से नाराज सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई के दौरान नागेश्वर राव को तलब किया था। जिसके बाद आज मंगलवार पर सुनवाई करते हुए, कोर्ट ने इस पूरे मामले को ‘अदालत की अवमानना’ करार दिया और नागेश्वर राव को दोषी ठहराया।

लखनऊ में ‘प्रियंका शो’ के बाद राहुल गांधी ने दिया बड़ा बयान

loading...