Breaking News
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव में 200 सीटों के अंदर सिमट जाएगी एनडीए: चंद्रबाबू नायडू
  • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान हिंसा, दमदम में रो पड़े मतदान अधिकारी
  • गोडसे विवाद पर नीतीश, साध्वी प्रज्ञा का बयान बर्दाश्त से बाहर, पार्टी से निकाला जाए
  • लोकसभा चुनाव: सातवें व अंतिन चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग

12 साल की छात्र की फांसी ने दिल्ली को झकझोर दिया, हथेली पर लिखें हैं अपने दर्द!

नई दिल्ली: राजधानी में एक चौकाने वाले मामले में सातवीं कक्षा की एक छात्रा ने अपने घर में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। मृतक छात्रा की पहचान 12 साल की डेजी राठौर के तौर पर की गई है, जिसने एक दिसंबर को फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। मामले में गुरुवार को पुलिस ने बताया कि छात्रा अपने विज्ञान के शिक्षक से परेशान हो चुकी थी।

पुलिस के अनुसार टीचर छात्रा तो अक्सर फटकारने के साथ-साथ उसे अपमानित भी करते थे। छात्रा ने प्रताड़ित करने वाले शिक्षक का नाम अपनी हथेली पर लिख रखा है। पुलिस के अनुसार मामले में छात्रा के साथियों का भी बयान दर्ज किया गया है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आते ही मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी। हम दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

अभी-अभी: शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी और बच्चों से मिलने के बाद योगी ने लि…

पुलिस अधिकारी ने बताया कि छात्रा ने अपने हथेली पर लिख रखा था वह स्कूल नहीं जाना चाहती। उसने अपनी मां और दादी से माफी मांगेते हुए कहा कि वह भगवान कृष्ण से मिलने जा रही है। लड़की की मां कमला राठौर एक वकील हैं, जिन्होंने आखिरी बार अपनी बेटी को तीस हजारी कोर्ट जाने से पहले देखा था। जिसके बाद वह शाम चार बजे घर लौटीं तब तक बेटी की मौत हो चुकी थी।

बड़ी खबर : एक बार फिर दहल सकता है वाराणसी, विश्व के सुप्रसिद्ध मंदिर स…

उसके पास से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया है। छात्रा के अनुसार, उसका टीचर किशोरी उसे लगातार अपमानित करता था। उसे हर रोज फटकार लगाता था। शुक्रवार को भी टीचर ने बॉयोलाजी लैब में उसकी कक्षाध्यापक के सामने उसे दस मिनट तक डांट लगाई और अपमानित किया।

गोहत्या के शक में जंग का मैदान बना बुलंदशहर, पुलिस इंस्‍पेक्‍टर की हत्…

अपनी बेटी के साथ घटी घटनाओं का जिक्र करते हुए मृतका की मां रोने लगी, उन्होंने ने कहा कि कॉलेज में अपमानित किए जाने वह वॉशरूम में जाकर खूब रोई थी। मां ने कहा कि वह स्कूल बदलने की बात कर रही थी, लेकिन हमने तब इस बात इतनी गंभीरता नहीं दिखाई, और फिर ऐसा हो गया कि उसने आत्महत्या कर ली, यह कितना भयानक होगा!

loading...