Breaking News
  • नगालैंड दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 27 फरवरी को होने हैं चुनाव
  • जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, सेना दे रही है मुंहतोड़ जवाब
  • केजरीवाल सरकार का फैसला, दिल्ली में राशन के लिए आधार कार्ड नहीं होगा अनिवार्य
  • पीएनबी घोटाला: विपुल अंबानी 5 मार्च तक सीबीआई हिरासत में

आखिर कहां है मेरे ‘कलेजे का टुकड़ा’- दिल्ली से गायब हुआ दिल्ली पुलिस का दरोगा

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली को सुरक्षित रखने का जिम्मा दिल्ली पुलिस के हवाले है, लेकिन इससे बड़ी शर्म की बात क्या हो सकती है कि दिल्ली पुलिस का ही एक दरोगा सालों से लापता है और पुलिस की कान पर जूं तक नहीं रेंग रही। यहां सबसे बड़ी हैरानी तो यह है दिल्ली पुलिस ने अपने लापता साथी की तलाश या उसकी गुमशुदगी का केस दर्ज करना भी जरूरी नहीं समझा।

तो वहीं अपने लाल के इंतजार में बैठे बुजूर्ग माता-पिता की आंखे पथरा सी गई है, लेकिन करीब 33 महीने से भी अधिक समय के बाद इनके बेटे की कोई खोज खबर नहीं है। दरअसल यह पेचीदा मामला बिहार के गया जिले के खिजरसराय प्रखंड के उतरावां गांव से जुड़ा है। यहां के निवासी अरविंद कुमार शर्मा पिछले लंबे समय से अपने बेटे की तलाश में दर दर की ठोकर खाने को मजबूर है।

अरविंद कुमार शर्मा का बड़ा बेटा उत्तम कुमार सौरभ, जो दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत था और वह पिछले करीब 33 महीने से लापता है। जिसकी तलाश करते करते उनके परिजन दिल्ली में पुलिस थाने का कई चक्कर लगा चुका हैं, लेकिन पुलिस ने उनके बेटे के लापता होने की केस तक दर्ज नहीं की। हालांकि अपने बेटे की एक झलक पाने को तरते बुजूर्ग पिता ने भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के साथ-साथ बिहार सरकार के दफ्तरों को भी नाप दिया, लेकिन इसके बाद भी शिवाय निराशा के कुछ हाथ नहीं लगा।

लेकिन इसके बाद भी अब तक उत्तम कुमार का कोई अता-पता नहीं है, बुजूर्ग माता-पिता अपने लाल पर सरकार और पुलिस के सवाल कर रहे हैं कि आखिर कहा हैं उनका कलेजे का टुकड़ा? लेकिन पुलिस और सरकार को सांप सूंघ गई है, क्योंकि कोई उत्तम के बारे में कोई कुछ भी साफ-साफ बता नहीं पा रहा है, जबकि परिजनों का हाल बेहाल होता जा रहा है।

लापता जवान के पिता अरविन्द कुमार शर्मा ने बताया कि, उत्तम 22 जनवरी 2010 को दिल्ली पुलिस के लिए ट्रेनिंग में गया था, उसकी पहली पोस्टिंग लोकनायक अस्पताल चौकी में हुई। जिसके बाद एक दिन उत्तम ने अपने घर फोन किया, इस दौरान उसने बताया कि अब उसकी पोस्टिंग दरियागंज थाने में होने वाली है। लेकिन इसके बाद कभी उत्तम और उनके परिजनों के बीच कोई बातचीत नहीं हुई और इसी दौरान से उत्तम लापता है।

आपको बता दें कि लापता उत्तम के पिता की हालत इतनी खराब है कि वे अपने गांव में ही किराए के मकान में रहने को मजबूर है, क्यों उन्होंने अपना मकान और दुकान सब बच्चों को पढ़ा-लिखा कर आदमी बनाने में लगा दिया और जब इनका लाल आदमी बन कर देश की सेवा करने पहुंचा तो उसे ‘जमीन खा गई या आसमान निगल गया’ किसी को पता ही नहीं है। बता दें कि अरविन्द कुमार शर्मा के दो बेटे उत्तम कुमार जो लापता हैं और दूसरा बेटा कुंदन कुमार इटली में जॉब कर रहा है।

loading...