Breaking News
  • कुलभूषण जाधव मामले में आज आएगा फैसला, पाकिस्तानी वकील पहुंचे हेग
  • प्रयागराज : सपा सांसद अतीक अहमद के कई ठिकानों पर छापा
  • सिद्धू के इस्तीफे पर आज फैसला लेंगे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर
  • कर्नाटक मामले में आज सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा फैसला

बड़ी खबर: दिल्ली में महिलाओं के लिए बस-मेट्रो मुफ्त

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में मिली कारारी हार से आहत दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव से पहले जनता के बीच फिर से पैठ बनाने के रास्ते तलाश रही है। इस कड़ी में सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है। दरअसल, पिछले कई दिनों से जारी चर्चाओं के बीच सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डीटीसी और क्लस्टर बसों व मेट्रो में महिलाओं के मुफ्त सफर की घोषण कर दी है। सीएम के इस फैसले से जनता के बीच हर्षो-उल्लास का माहौल है। खात तौर पर दिल्ली की महिलाओं ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है।

अपने फैसले की जानकारी देते हुए सीएम ने मीडिया से कहा कि राजधानी में अगले 2 से 3 महीने में यह व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। सीएम के अनुसार, सरकार का यह फैसला महिलाओं की सुरक्षा के लिहाज से काफी अहम है। सीएम ने कहा कि आम परिवारों की बेटियां जब कॉलेज के लिए निकलती हैं, महिलाएं नौकरी के लिए निकलती हैं, तो लोगों का दिल धकधक रहा होता है। परिवार को उनकी सुरक्षा की चिंता सता रही होती है।

इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए सरकारी बसों और मेट्रों में महिलाओं को मुक्त सफर कराने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि महिलाएं ज्यादा से ज्यादा पब्लिक ट्रांसपॉर्ट का इस्तेमाल कर सकें। इस योजना पर होने वाले खर्च के संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में सीएम ने कहा अनुमानित तौर पर इस साल के बचे हुए 6-7 महीने में इस पर 700 से 800 करोड़ तक का खर्चा होगा।

जानकारी के अनुसार, आने वाले दो से तीन महीने में इस योजना को प्रभावी रूप से अमल में लाया जाएगा। इससे पहले अधिकारियों से एक सप्ताह में इसकी विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है। साथ ही सीएम ने आग्रह भी किया है कि जो महिलाएं सब्सिडी छोड़ सकती है वो छोड़ें। गौरतलब हो कि इससे पहले केंद्र की मोदी सरकार ने भी सक्षम लोगों से एलपीजी सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी छोड़ने का अनुरोध किया था, जिसे जनता ने हाथों-हाथ लिया और काफी संख्या में लोगों ने सब्सिडी छोड़ा। ऐसे इसमें कोई संदेह नहीं की केजरीवाल सरकार की ये योजना भी जनता के बीच एक अहम छाप छोड़ सकती है।

loading...