Breaking News
  • असम में आज दोपहर 1.55 बजे तक कोरोना के 111 नए मामले, कुल संख्या 1672 हुई
  • 69,000 सहायक शिक्षकों की चल रही भर्ती प्रक्रिया पर लखनऊ हाईकोर्ट बेंच ने लगाई रोक
  • IB कर्मचारी अंकित शर्मा मर्डर केस में तारीन हुसैन का हाथ, दिल्ली पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट
  • महाराष्ट्र में कोंकण तट से टकराया निसर्ग चक्रवात, 100 KMPH की रफ्तार से चल रही है हवाएं
  • हर प्रवासी मजदूर को 10 हजार की एकमुश्त मदद दे केंद्र : ममता बनर्जी

केजरीवाल सरकार में आमों की लूट, सामने आईं बेहद शर्मनाक और हैरान करने वाली तस्वीर

रिपोर्ट : ए.के.रंजन

नई दिल्ली : केजरीवाल सरकार में कुछ भी संभव है, क्योंकि जिस प्रकार देश में लॉकडाउन के दौरान प्रवासियों को बसों में भर-भर कर आनंद विहार रेलवे स्टेशन और यूपी बोर्ड पर छोड़ा गया, वो ये बताने के लिए काफी है कि दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के शासनकाल में कुछ भी संभव है। हालांकि उन्होंने कभी भी इस बात की सफाई नहीं दी और नहीं उन प्रवासियों को सुरक्षा मुहैया कराने की जिम्मेदारी। क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो मजदूर सड़कों पर नहीं आते, वे घरों में ही रहते। लेकिन भूख और छत्त ने उन्हें सड़कों पर आने को विवश कर दिया।

एक ऐसा ही हैरान और शर्मनाक तस्वीर दिल्ली के जगतपुरी इलाके से आई है। जहां गुरूवार दोपहर को लोगों ने आम बेचने वाले के आम ही लूट लिए। खबरों के अनुसार सड़क किनारे पटरी पर आम के 7-8 कैरेट रखे देख लोग इन आमों पर टूट पड़े। चाहे वह रिक्शा वाला हो, स्कूटी वाला हो या ऑटो वाला या हर कोई इन आमों को अपनी थैली में भरता नजर आया।  

पुलिस सूत्रों के अनुसार पीड़ित ने अभी तक कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है और ना ही शिकायत देने को तैयार है। पुलिस लगातार पीड़ित के संपर्क में है। दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक़ ये फल वाला एक पेड़ के नीचे फल बेच रहा था। वहां कुछ रिक्शा वाले खड़े होते थे, जिनसे इस फल वाले का झगड़ा हुआ। जिसके बाद वह फलों का कैरेट वहीं छोड़ कर चला गया। बाद में लोगों ने आम से भरे इन कैरट को लूट लिया।

पुलिस पीड़ित को कंप्लेन देने के लिए मना रही है। अगर पीड़ित केस दर्ज नहीं कराता है तो  पुलिस खुद मामले का संज्ञान लेकर मुकदमा रजिस्टर कर सकती है।

loading...