Breaking News
  • आज शाम 6 बजे तक खत्म हो सकता है कर्नाटक का नाटक, कुमारस्वामी करेंगे फ्लोर टेस्ट
  • बिहार के दरभंगा में अभी भी बाढ़ से राहत नहीं, लोगों ने सड़क पर ठिकाना
  • आज होगा ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री का चयन
  • बीजेपी संसदीय दल की बैठक के बाद, पीएम मोदी कर सकते हैं सांसदों को संबोधित

हंगामे के बीच अखिलेश का बजट, मेट्रो को दिया 814 करोड़

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को विधानसभा में मौजूदा वित्त वर्ष के लिए अनुपूरक बजट पेश किया। मुख्यमंत्री ने विपक्ष के हंगामें के बीच 27000 करोड़ का बजट पेश किया है। इस बजट में कर्ज में डूबे किसानों और बद से बदतर हो चुकी बिजली वितरण कंपनियों की आर्थिक मदद पर जोर दिया गया है।

इस बजट का एक बड़ा हिस्सा उन इलाकों में खर्च किया जाएगा जो सूखे की मार झेल रहे हैं और जहां किसान समस्याओं से जूझ रहे हैं। केंद्र सरकार पहले ही राज्य के किसानों के लिए 1304 करोड़ रुपये मंजूर कर चुकी है।

अनुपूरक बजट में बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास और लखनऊ की मेट्रो रेल परियोजना पर भी जोर है। बिजली कंपनियों को 'उदय' योजना के तहत बांड के जरिए 26,606 करोड़ दिए गए हैं।

सूखा प्रभावित क्षेत्रों में राहत के लिए 904.52 करोड़ आवंटित किए गए हैं। मुख्यमंत्री शुक्रवार को 2016-17 का बजट पेश करेंगे। अनुपूरक बजट पेश करने के बाद अखिलेश ने कहा कि विपक्ष यह कह कर लोगों को गुमराह कर रहा है कि सरकार सूखा प्रभावित बुंदेलखंड की समस्याओं के प्रति संवेदनशील नहीं है।

आप को बता दे कि इससे पहले सदन की कार्यवाही शुरू होने के साथ ही हंगामा शुरू हो गया। बसपा, कांग्रेस और भाजपा सदस्यों ने आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी की सरकार राज्य में कानून व्यवस्था को बनाए रखने में नाकाम साबित हुई है। विपक्ष खासकर शामली की घटना का जिक्र कर रहा था जहां पंचायत चुनाव में समाजवादी पार्टी समर्थित प्रत्याशी की जीत के बाद हुई हर्ष फायरिंग में एक 10 साल के बच्चे की मौत हो गई थी।

इस मामले में प्रदेश सरकार की काफी कीरकीरी हुई थी, जिसके बाद युवा अखिलेश ने कई कदम उठाए थे, और इस मामले में कार्यवाई करने की बात भी की थी।

विपक्ष के हंगामे के बीच मुख्यमत्री ने बजट पेश किया। हलाकि बसपा के विधाक हंगामें के बीच ही सदन से वॉकआउट कर दिए।

loading...