Breaking News
  • देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर, सेना और एनडीआरएफ की टीमें बचावा कार्य में जुटी हैं
  • बिहार: रात भर चला ड्रामा, तेजस्वी बोले- ‘हमें मिले सरकार बनाने का मौका, ये तानाशाही है’
  • बिहार: महागठबंध से अलग हुए नीतीश- BJP के साथ बनाई नई सरकार, शपथ ग्रहण आज
  • रामेश्वरम में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल का उद्घाटन- पीएम मोदी की मौजूदगी में

बीजेपी नहीं सेंक पाएगी ‘बशीरहाट’ दंगे पर राजनीतिक रोटी, हिरासत में लिए गए सांसद


कोलकाता: वेस्ट बंगाल के बशीरहाट और बदुरिया में हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के लिए जा रहे बीजेपी नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है। यह नेता हिंसा प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने वाले थे, जिन्हें रास्ते में ही रोक कर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इन नेताओं में बीजेपी सांसद मिनाक्षी लेखी, ओम माथुर आदि नेता शामिल थे।

दंगा प्रभावित क्षेत्र बशीरहाट और बदुरिया में अभी भी हालात सामान्य नहीं हुए हैं। ऐसे में राजनीतिक लोगों का जाना खतरे से खाली नहीं है, लेकिन दंगा प्रभावित क्षेत्र का राजनीतिक लोग अपने नफे-नुक्सान के लिए लगातार दौरा करने में लगे हुए हैं। बशीरहाट का बीजेपी सांसदों ने दौरा करने की कोशिश की जिसमें सांसद मीनाक्षी लेखी, ओम माथुर और सत्यपाल सिंह को दंगा प्रभावित बशीरहाट इलाके में जाने से रोक दिया गया। साथ ही सभी नेताओं को पुलिस हिरासत में भी ले लिया है।

इस दौरान पुलिस के साथ सांसदों तीखी नोकझोक भी हुई। लेखी ने पुलिसकर्मियों से पूछा कि जैसा कि राज्य सरकार दावा कर रही है कि बशीरहाट में स्थिति नियंत्रण में है तो उन्हें वहां जाने की इजाजत क्यों नहीं दी जा रही? उन्होंने पुलिसकर्मियों से कहा, हम सांसद हैं और सिर्फ हम तीन ही लोग वहां जायेंगे।

सिक्किम सीमा विवाद: जानिए भारत आने वाले अपने नागरिकों से चीन ने क्या कहा?

जिसके बाद तीनों सांसदों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बताया जा रहा है कि हिरासत में लिए जाने के कुछ देर बाद पुलिस ने सभी को छोड़ दिया। वहीँ बशीरहाट पर लगातार राजनीती शुरू हो चुकी है, बीजेपी सांसदों को हिरासत में लिए जाने का वेस्ट बंगाल बीजेपी ने कड़ा विरोध किया है। बीजेपी नेता ने कहा कि राज्य सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए बीजेपी नेताओं को क्षेत्र का दौरा करने से रोक रही है।

loading...