Breaking News
  • छत्तीसगढ़: कांकेर में नक्सली हमले में दो बीएसएफ जवान शहीद
  • रोते हुए बोले कर्नाटक के CM कुमारस्वामी, गठबंधन सरकार में नीलकंठ की तरह विष पी रहा हूं
  • FifaWorldCup18: तीसरे स्थान के लिए खेले गये मुकाबले में BEL ने ENG को 2-0 से हराया
  • प्रधानमंत्री मोदी ने मिर्जापुर में बाणसागर नहर परियोजना राष्ट्र को किया समर्पित

पिता की मौत के बाद खुद अपना पिता बनकर पेंशन निकलवाता था शख्स, ऐसे हुआ खुलासा

पिता की मौत के बाद खुद अपना पिता बनकर पेंशन निकलवाता था शख्स

TOHANA:- गांव ललौदा में एक व्यक्ति द्वारा धोखाधडी से फर्जी दस्तावेज तैयार कर अपने पिता की मौत के बाद भी उसके नाम की पेंशन बैंक से निकलवाने का मामला प्रकाश में आया है। भारतीय स्टेट बैंक के मैनेजर राजेश गुप्ता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ विभिन्न धाराओ के तहत मामला दर्ज किया है। आरोप है कि आरोपी ने बैंक में खुद अपना पिता बनकर जीवन प्रमाण पत्र दे दिया और इसके बाद 2 साल की अवधि में लाखों रुपये की पेंशन निकलवा ली। बैंक प्रबंधन को जब पता चला तो बैंक के जांच अधिकारी राजेश गुप्ता की शिकायत पर ललौदा निवासी सुरजीत सिंह के खिलाफ केस दर्ज करके जांच आरंभ कर दी है।

हर भारतीय को जरूर पता होनी चाहिए भारतीय सेना के बारे में ये 10 बातें

पुलिस को दी शिकायत में राजेश कुमार गुप्ता ने बताया कि पहले एसबीआई की एक ब्रांच नेहरु मार्केट में शाखा थी जिसमें बिजली विभाग से पेंशनधारी बूटा सिंह पुत्र गोमा सिंह का पैंशन खाता था। उन्होंने बताया कि बाद में उनकी शाखा का विलय चंडीगढ़ रोड़ शाखा में हो गया। 8 अक्तूबर 2010 को उनकी शाखा के संज्ञान में आया कि बूटा सिंह का तो पहले ही स्वर्गवास हो गया है और उनका बेटा सुरजीत सिंह अपने पिता बूटा सिंह के पैंशन खाते से लगातार बूटा सिंह बनकर पैंशन ले रहा है। उसने अपने पिता की मृत्यु की सूचना भी बैंक को नहीं दी है। 2 फरवरी 2017 को स्वयं बूटा सिंह बनकर अपने पिता का जीवन प्रमाण-पत्र जमा करवाया था। उसके पिता की मृत्यु दिसंबर 2015 में हो चुकी है। बूटा सिंह ने 25 दिस बर 2015 से लेकर 7 अक्तूबर 2017 तक 3 लाख 49 हजार 301 रुपये की पैंशन निकलवा ली। पुलिस ने बूटा सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

इस अभिनेत्री को देखकर पागल हुए लोग, बुलाने पड़े 200 बाउंसर्स

इस बारे में बैक के मैनेजर राजेश गुप्ता ने बताया कि उनकी शाखा से पेंशनधारक की पेंशन मरने के उपरांत धोखाधडी से उसके बेटे द्वारा लेने का मामला आया था जिसके बाद उन्होने जांच की तो पाया कि आरोपी ने जो भी दस्तावेज नगर परिषद के हवाले से लगाए थे वो भी फर्ती मिले है। इसने लगभग तीन लाख से अधिक रूपये की राशि गडबडी से ली है। पुलिस को मामले की शिकायत दे दी है।

इस बारे में थाना शहर प्रभारी प्रदीप कुमार ने बताया कि पुलिस ने बैंक मैनेजर राजेश गुप्ता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ 419,420,467,468,471 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामले की जांच चल रही है। 

प्राइवेट पार्ट में घुसा लिया रिंग- 6 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दमकलकर्मियों ने निकाला

loading...