Breaking News
  • असम में आज दोपहर 1.55 बजे तक कोरोना के 111 नए मामले, कुल संख्या 1672 हुई
  • 69,000 सहायक शिक्षकों की चल रही भर्ती प्रक्रिया पर लखनऊ हाईकोर्ट बेंच ने लगाई रोक
  • IB कर्मचारी अंकित शर्मा मर्डर केस में तारीन हुसैन का हाथ, दिल्ली पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट
  • महाराष्ट्र में कोंकण तट से टकराया निसर्ग चक्रवात, 100 KMPH की रफ्तार से चल रही है हवाएं
  • हर प्रवासी मजदूर को 10 हजार की एकमुश्त मदद दे केंद्र : ममता बनर्जी

अमेठी में अटकी राहुल की सांसे, जानिए वायनाड में कैसी हालत

नई दिल्ली:  लोकसभा चुनाव 2019 में जनता ने विपक्ष के सारे दावे ठुकरा दिए। जिसका नतीजा है कि बीजेपी की नेतृत्व वाली NDA देश के लगभग सभी राज्यों में जबरदस्त जीत दर्ज कर रही है। सभी 542 सीटों पर आए रूझान के बाद बीजेपी का वो दावा भी सत्य साबित हो रहा है, जिसमे 300 से अधिक सीटे जीतने का दावा किया जा रहा था।

रुझानों के अनुसार एनडीए 333 सीटों पर आगे चल रही है। जबबकि 284 से अधिक सीटों पर बीजेपी उम्मीदवार बढ़त के साथ आगे बढ़ रहे हैं। जबकि सरकार बनाने के लिए 272+ सीटों की जरूरत है। इस लिहज से बीजेपी 2019 चुनाव में भी अकेल दम पर सरकार बमनाती दिख रही है। 2014 में बीजेपी के खाते में 282 सीटों आई थी, जो बहुमत के आकेड़ से 10 अधिक थी।

इस बार 2019 में बीजेपी 284 से अधिक सीटे जीतकर 2014 का रिकॉर्ड तोड़ती दिख रही है। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी और एनडीए के खिलाफ एकजुट हुए सभी विपक्षी दलों की हालत खराब दिख रही है। कांग्रेस पार्टी की परंपरागत सीट उत्तर प्रदेश के अमेठी से चौथी बार चुनाव लड़ रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हार के करीब बढ़ रहे हैं।

अमेठी में राहुल के खिलाफ 2014 में हार का सामना करने वाली बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी जीत की ओर बढ़ रही है। हालांकि यहां राहुल गांधी के लिए अच्छी खबर है कि वह अपनी दूसरी सीट केरल के वायनाड से आगे चल रहे हैं और उनकी जीत भी लगभग तय मानी जा रही है। वहीं कांग्रेस पार्टी की एक अन्य परंपरागत सीट उत्तर प्रदेश की रायबरेली से चुनाव लड़ रही सोनिया गांधी अपने निकटतम प्रतिद्वंदी से आगे चल रही हैं।

आपको बता दें कि राहुल गांधी के दो सीटों से चुनाव लड़ने के फैसले पर बीजेपी ने पहले ही दावा किया था कि अमेठी में हार की संभावनाओं से घबराए राहुल गांधी ने अपने लिए एक ऐसी (केरल की वायनाड) सीट चुनी है, जहां माइनॉरिटी मेजोरिटी में हैं। हालांकि तब कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी के आरोपों को खारिज करते हुए राहुल का दक्षिण प्रेम करार दिया था।

loading...