Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

30 साल पुराने मामले में कोर्ट ने सुनाई सजा, आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट दोषी करार

नोएडा : 30 साल पुराने हिरासत मौत मामले में गुजरात की जामनगर अदालत ने बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को दोषी करार देते हुए पूरी उम्र कैद किए जाने की सजा सुनाई है।

करीब तीन दशक पुराने मामले की लंबी सुनवाई के बाद गुरुवार 20 जून को जामनगर की अदालत इस नतीजे पर पहुंची की आरोपी आईपीएस अधिकारी भट्ट की पूरी उम्र कैद की जाती है। आरोपी अधिकारी को कोर्ट ने धारा 302 यानी हत्या के मामले में दोषी करार देते हुए सजा का ऐलान किया है।

आपको बता दें कि ये पूरा मामला 30 साल पहले का है, जब संजीव भट्ट गुजरात के जामनगर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के रूप में तैनात थे, उसी समय एक सांप्रदायिक दंगे के दौरान 100 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया था। जिनमें से एक व्यक्ति की रिहाई के बाद अस्पताल में मौत हो गई थी। जिसे लेकर भट्ट पर हत्या का मुकदमा चलाया गया।

हालांकि इसी साल 12 जून को भट्ट ने गुजरात हाई कोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। अपनी याचिका में भट्ट ने हिरासत में हुई मौत मामले में गवाहों के नए सिरे से जांच की मांग की थी, लेकिन देश की सबसे बड़ी अदालत ने किसी भी राहत से इनकार कर दिया।

loading...