Breaking News
  • लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने जारी किए 7 और उम्मीदवारों के नाम, दिल्ली से चार
  • श्रीलंका: आतंकियों ने चर्च सहित 8 जगहों को बनाया निशाना, कई विदेशी नागरिक भी मारे गए
  • श्रीलंका: सिलसिलेवार धमाकों में मरने वालों की संख्या 290, 400 ज्यादा लोग घायल
  • कोलकाता में बोले अमित शाह- बीजेपी की रैलियों को ममता सरकार इजाजत नहीं दे रही है

यहां डिमांड पर है भगवा गमछा, जानिए क्या है कारण

नई दिल्ली:  लोकसभा चुनाव के मद्देनजर देश का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। हर कीमत पर चुनाव जीतने की होड़ में जुटे नेता, चुनावी कायदे काननू को ठेंगा दिखाते हुए प्रचार गाड़ी को रफ्तार देते दिख रहे हैं। सिर्फ नेता ही नहीं बल्कि जनता भी अपने फायदे के लिए आदर्श आचार संहिता को सरेबाजार नीलाम करने पर तुली है।

ये तस्वीर दिल्ली और कोलकाता दोनों से करीब 650 किमी दूर उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर की है। विंध्याचल, अष्टभुजा और काली ख्ह के पवित्र मंदिरों के लिए प्रसिद्ध मिर्जापुर में नवरात्र के मैके पर मनोरम नजारा दिख रहा है। यहां जगह-जगह पर मेले का आयोजन किया गया है, जहां सियासी महासमर का रंग भी प्रचुर दिख रहा है।

चुनावी मौसम में विंध्याचल में नवरात्र मेले में भगवा गमछों की भरमार लगी है। दुकानदारों की माने तो विंध्याचल में भगवा गमछा भारी डिमानंड पर है। यह लोगों को अपनी ओर खींच रहा है। इसकी अच्छी शेल हो रही है। मेल में बिक रहे इन भगवा गमछों की एक सबसे बड़ी खासियत है कि इन पर कमल के फूल बने हैं।

आपको बता दें कि देश में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता अमल में है। ऐसे में इन भगवा गमछों पर एक राष्ट्रीय पार्टी के चुनाव चिन्ह अंतिक किया जाना आचार संहिता का मामला हो सकता है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या प्रशासन चुनाव आयोग द्वार जारी दिशा-निर्देशों को अमल में लाने में नाकाम साबित हो चुकी है या फिर सरकार अचांरसहिता का खुलेआम मजाक बना रही  है।

loading...