Breaking News
  • युद्ध अपराधों के खिलाफ अभियान नहीं रोक सकता पाकिस्तान: WBO
  • विरोधी पहले ही मैदान छोड़कर भाग चुके हैं- घर बैठे ट्वीट कर रहे है: योगी
  • भारतीय छात्रा की तस्वीर से छेड़छाड़ कर पोस्ट भेजने के मामले में 'पाकिस्तान डिफेंस' का वेरिफ़ाइड अकाउंट सस्पेंड
  • गोवा: आज से शुरू हो रहा है 48वां भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव

प्रद्युम्न मर्डर: पुलिस की जांच में सैकड़ों झोल, आखिर किसे बचा रही है पुलिस?

गुरुग्राम: गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में छात्र प्रद्युम्न की हत्या के बाद से स्कूल प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आने के बाद स्कूल मैनेजमेंट और स्कूल मालिक के खिलाफ पुलिस का शिकंजा कसता ही जा रहा है। इसी बीच स्कूल मालिक ने गिरफ्तारी से बचने के लिए बाम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका लगाई है। जिसपर मंगलवार को सुनवाई होनी है।

बतादें कि रेयान स्कूल में 7 वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की बेरहमी से हत्या के बाद स्कूल मैनेजमेंट पूरी तरह घिर चुका है। स्कूल प्रशासन अविभावकों से मोटी फीस वसूलने के बाद भी बच्चो की सुरक्षा की गारंटी नहीं ले पा रहे हैं। वहीँ हरियाणा पुलिस रेयान स्कूल के मैनेजमेंट पर शिकंजा कसती जा रही है। स्कूल में हुई हत्या के मामले में पुलिस स्कूल मालिक से पूछताछ करना चाहती है लेकिन प्रशासन ने यहाँ भी जिम्मेदारिओं से भागते हुए अपने बचाव के हथकंडे अपनाने शुरू कर दिए हैं। स्कूल मालिकों ने गिरफ्तारी के डर से बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई है जिस पर मंगलवार को सुनवाई होनी है।

वहीँ इससे पूर्व सोमवार को देश की सर्वोच्च अदालत ने मामले पर पहली सुनवाई करते हुए अपना रुख साफ़ कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट बंच्चों के मामले में लापरवाही बिलकुल बर्दास्त नहीं करना चाहता है। इस बाबत एससी ने केंद्र सरकार, राज्य सरकार, सीबीआई और सीबीएसई को नोटिस भेजकर जवाब तलब किया है। इसके साथ ही पूछा है कि क्यों न स्कूल की मान्यता रद्द कर दी जाए? वहीँ इस मामले में मनोहरलाल खट्टर सरकार अभी भी असंवेदनशील रवैया अपनाए हुए है।

नीतीश राज में नहीं सुरक्षित हैं उनके ही नेता, कार्यकारिणी समिति की गोलीमार कर हत्या

“फर्जी बाबओं के लिस्ट में रामदेव का नाम नहीं रखा, निराशा हुई”

लगातार मामले की सीबीआई जाँच की मांग को सरकार अनसुना कर रही है। साथ ही हरियाणा पुलिस की जाँच में सैकड़ों झोल नजर आ रहे हैं। अविभावकों का आरोप है कि पूरे मामले में पुलिस स्कूल मैनेजमेंट को क्लीन चिट देने की कोशिश कर रहा है। इसके साथ ही हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया आरोपी भी संदिग्ध लगता है। इन्हीं बातों को लेकर लगातार अविभावक प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीँ इस घटना के बाद से देशभर में उबाल है, हर जगह घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।   

यह भी देखें-

loading...