Breaking News
  • जम्मू-कश्मीर के पूछ में पाक सेना ने किया युद्ध विराम का उल्लंघन, भारतीय सेना दे रही है मुंहतोड़ जवाब
  • देश भर में धूम-धाम से मनाया गया 71वां स्वतंत्रता दिवस और जन्माष्टमी का त्योहार
  • महाराष्ट्र में दही-हाथी संबंधित घटनाओं में दो मृत, 197 घायल
  • हिमाचल प्रदेश के चंबा में 3.5 की भूकंप के झटके

पुलिस वालों की वजह से टूट गई दुष्कर्म पीड़िता की शादी...

SUPELA:- सुपेला सामूहिक दुष्कर्म मामले में पीड़िता ने पुलिस पर केस कमजोर करने और उनकी पहचान को सार्वजनिक करने का आरोप लगाया है। वहीं इस दौरान मौजूद उसकी एक सहेली ने भी आरोप लगाया कि पुलिस की वजह से उसकी शादी अटक गई है। उसके घर में लड़के वाले बैठे थे, तभी पुलिस आ धमकी। दोनों ने कहा कि अब पुलिस ही उनकी शादी की जिम्मेदारी उठाए।

पीड़िता की सहेली ने बताया कि इस मामले में पीड़िता की मदद करने का भी उसे काफी खामियाजा भुगतना पड़ा है। उसने बताया कि जब रिश्ते के लिए लड़के वाले उसके घर आए हुए थे, तभी सुपेला पुलिस के आधा दर्जन से ज्यादा वर्दीधारी जवान उसके घर आ पहुंचे और दोनों के बारे में पूछने लगे। घर वालों से फोटो की मांग करने लगे। यह देखकर लड़के वाले लौट गए। गैंगरेप पीड़िता ने कहा कि पुलिस उसकी तस्वीर लेने के लिए गांव तक पहुंच गई और उसके मोहल्ले में घूम-घूमकर उसके साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म की जानकारी गांव वालों को दी। दोनों ने पुलिस से उनकी शादी की जिम्मेदारी लेने के लिए कहा है।

गैंगरेप पीड़िता ने कहा कि पुलिस के जांच के तरीके से पूरे रिश्तेदारों और लोगों को पता चल गया है कि उसके साथ क्या हुआ है। एफआईआर दर्ज होने के बाद से सुपेला पुलिस उसके साथ काफी बुरा बर्ताव कर रही है। उसने बताया कि वकीलों के माध्यम से उसे जानकारी मिली है कि सुपेला पुलिस ने उसका केस काफी कमजोर बना दिया है, जिसका लाभ आरोपियों को मिलेगा। पीड़िता और उसकी सहेली ने बताया कि पुलिस ने चार्जशीट पेश करने जल्दबाजी की।

पीड़िता ने बताया कि मुख्य आरोपी अजीत सिंह उसे मोबाइल पर अश्लील वीडियो भेजता था। इसकी जानकारी सुपेला पुलिस को देने के बाद भी पुलिस ने उन अश्लील वीडियो को जब्त नहीं किया और न ही जांच की। पीड़िताओं ने पुलिस की लापरवाही की शिकायत स्पीड पोस्ट से राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश सहित 17 जनप्रतिनिधियों से की है। ज्ञात हो कि इस मामले में पांचों आरोपी अजीत सिंह, लाल बहादुर वर्मा, कमलेश चंद्राकर, गिरीश खापर्डे और दुलाल चटर्जी जेल में हैं।

पुलिस ने चालान पेश करने के पहले जांच पूरी की है। इस तरह के गंभीर मामले फास्ट ट्रैक में कोर्ट में चलते हैं, इसलिए चालान जल्दी पेश किया गया। पीड़िता ने आरोपी अजीत सिंह द्वारा अश्लील वीडियो भेजने की शिकायत की है, लेकिन उसने अपना मोबाइल नहीं जब्त कराया है। उसके जब्त होने पर उस अपराध की धाराएं जोड़कर पूरक चालान पेश किया जाएगा।

loading...

Subscribe to our Channel