Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

क्या हुआ जब राजस्थान में रेप पीड़िता की ‘पोरसिसिया’ में पहुंचे राहुल गांधी

नई दिल्ली: राजस्थान के अलवर में पति को बंधक बनाकर पत्नी के साथ गैंगरेप का मामला पूरी तरह से चुनावी रंग ले चुका है। सियासी महासमर में बाजी लगा रहे नेता अपने-अपने तरीके से इस मुद्दे को उठा रहे हैं। बीते कई दिनों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बलात्कार कांड पर राजस्थान सरकार व उसकी सहयोगियों के घेरने की कोशिशों में जुटे हैं तो गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद अलवर पहुंचे और पीड़ित महिला व उसके परिवार से मुलाकात कर न्याय का भरोसा दिलाया।

हालांकि महिला को न्याय का भरोसा दिलाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष शायद यह भूल गए कि ये उनकी ही पार्टी की सरकार है जिसपर माहिला के साथ अन्याय का आरोप लगा है। खबरों के अनुसार सरकार और पुलिस पहले चुनावी समर के चलते मामले को हल्के में ले रही थी, लेकिन मीडिया में खबर आने बाद हो रही किरकिरी से सकते में आई सरकार व पुलिस को त्तकाल कार्रवाई करनी पड़ी।

पीड़ित महिला की पोरसिसिया (पीड़ित से मिल कर हाल समाचार लेना) में पहुंचे राहुल गांधी ने महिला को जल्द से जल्द न्याय का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी और न्यायिक प्रक्रिया का गंभीरता से पालन किया जाएगा। साथ ही उन्होंने अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदी बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी पार्टी भारतीय जनता पार्टी की तरह राजनीति नहीं करती है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह मेरे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं  बल्कि भावनात्मक मामला है। मैं यहां राजनीति करने नहीं, पीड़िता से मुलाकात करने आया हूं। राहुल ने कहा कि जैसे ही मुझे इस घटना की जानकारी मिली, मैंने अशोक गहलोत (सीएम) जी से बात की। मेरे लिए यह राजनीतिक मुद्दा नहीं है। मैं पीड़ित परिवार से मिला, उन्होंने न्याय की मांग की और उन्हें न्याय मिलेगा। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं अपनी सरकार की तारीफ करते हुए राहुल ने यह भी कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पीड़िता को नौकरी देने का आश्वासन दिया है। 

loading...