Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

साध्वी के इस बयान से सियासत में लगी आग, बीजेपी ने किया तलब

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के सातवें चरण से पहले नेताओं की बयानबाजी चरम पर है। एक कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा व मणिशंकर अय्यर के बयान पर जारी बवाल अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि मक्कल नीधि मय्यम पार्टी के संस्थापक व अभिनेता कमल हासन द्वारा नाथूराम गोडसे पर दिए गए बयान पर सियासी पारा चढ़ गया है।

दरअसल, कमल हासन ने नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला हिंदू आतंकी बताया था, जिसपर अब भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी की प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने पलटवार किया है। साध्वी ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया है। उन्होंने कहा कि गोडसे पर जो लोग सवाल उठा रहे हैं, उन्हें इस बार लोकसभा चुनाव में जवाब मिल जाएगा।

पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए प्रज्ञा ने कहा कि, 'नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्होंने कहा कि गोडसे को हिंदू आतंकवादी बताने वाले अपने गिरेबान में झांककर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।' हालांकि प्राज्ञा के बयान से बीजेपी ने किनारा कर लिया है। बीजेपी प्रवक्ता की माने तो ये प्रज्ञा की निजी राय है। साथ ही बीजेपी ने साध्वी से उनके बयान पर जवाब तलब करने की भी बात कही है।

वहीं साध्वी के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र पर सीधा हमला बोला। सुरजेवाला ने कहा कि साध्वी का बयान देश की गांधीवादी लोगों को आहत किया है। उन्होंने कहा कि ऐसी बयानबाजी के लिए मोदी-शाह जिम्मेदार हैं, जो इस तरह के लोगों की पीठ थपथपाते हैं। सुरजेवाला ने आरोप लगया है कि मोदी-शाह के इशारे पर ऐसी बयानबाजी की जा रही है।

आपको बता दें कि अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने तमिलनाडु में चुनाव प्रचार करते हुए हिंदू आतंकवाद पर विवादित बयान देते हुए गोडसे को आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था। कमल ने कहा कि, 'आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था।

बता दें कि कमल ने उक्स बयान जिस इलाके में दिया वह मुस्लिम बहुल इलाका था। लेकिन कमल की माने उन्होंने ऐसा इसलिए नहीं कहा क्योंकि यहां कई सारे मुस्लिम मौजूद हैं, बल्कि वह महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने खड़े है इसलिए ऐसा कहा।

loading...