Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

विपक्ष पर ऐसा बयान देकर बोले मोदी, मैं जानता हूं मुझे चुनावी नुकसान भी हो सकता है...

नई दिल्ली:  सियासी महासमर में राजनीतिक विरोधियों के तल्ख तेवर जगजाहिर हैं। चुनावी सभाओं में एक दूसरे पर आक्रमण करते हुए नेता मर्यादाओं की सारी सीमा लांघ रहे हैं। लेकिन क्या सियासी पर्दे के पीछे भी नेताओं के बीच ऐसी ही तल्खियां रहती हैं? इस सावाल के जवबा में मोदी ने ऐसी बात कही, जिसने विरोधियों के भी कान खड़े कर दिए।

दरअसल, अपनी चुनावी सभाओं में विरोधियों पर आग उगलते हुए देशद्रोही की संज्ञा देने वाले नरेंद्र मोदी इन दिनों खिलाड़ी अक्षय कुमार को दिये इंटरव्यू को लेकर चर्चा में हैं। इस बार वो इंटरव्यू में अपने विपक्षियों की बढ़ाई करते नज़र आये। इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि विपक्ष में कई नेता ऐसे हैं जो उनके दोस्त हैं। बकायदा मोदी ने अपने कुछ विरोधी मित्रों का नाम लेते हुए उनकी कृपा का गुणगाण भी किया है।

विपक्षी दलों के नेताओं के साथ अपने संबंधों का जिक्र करते हुए कहा कि, हमलोग साथ में खाना खाते रहते हैं। ये सब बहुत फॉर्मल होता है। उन्होंने एक वाक्ये का जिक्र करते हुए बताया कि, बहुत पहले की बात है जब मैं संसद गया था और वहां गुलाम नबी आजाद के साथ गप्पे मार रहा था। इसके बाद जब मैं बाहर निकला तो मीडिया वालों ने वहां पूछा कि आप तो आरएसएस वाले हैं, ये गुलाम नबी आजाद से कैसे दोस्ती है, तब गुलाम नबी आजाद ने अच्छा जवाब दिया। बाहर जो आप लोग देखते हैं, ऐसा नहीं है। शायद हमलोग फैमली की तरह जैसे जुड़े हैं, कोई बाहर कल्पना नहीं कर सकता है।

साथ ही उन्होंने कहा कि, आपको हैरानी होगी और मुझे चुनाव में नुकसान भी हो सकता है। लेकिन ममता दीदी मुझे साल में एक दो कुर्ते भेजती हैं। वहीं मोदी ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री का जिक्र करते हुए कहा कि, वह मुझे मिठाई भी भेजती हैं। जब ये बात ममता बनर्जी को पता चला तो वह भी मेरे लिए मिठाईयां भेजती हैं।

ममता के लिए मोदी के मुख निकली ये बात पहली बार में हजम कर पाना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। क्योंकि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी मोदी की धुर विरोधियों में से एक हैं, जो नोटबंदी, जीएसटी और सीबीआई जैसे मामलों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए ममता मोदी को तानाशाह तक कह चुकी हैं। जबकि पीएम मोदी भी कई मौके पर ममता बनर्जी पर बड़े हमले की है। हाल ही में मोदी ने बंगाल में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए 'स्पीड ब्रेकर दीदी' तक कह दिया था।

loading...