Breaking News
  • बिहारः मुठभेड़ में खगड़िया के पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह शहीद
  • J-K: पुलवामा में सुरक्षा बलों ने हिजबुल के एक आतंकी को मार गिराया
  • दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 82.66 रुपए प्रति लीटर, डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर
  • J-K:स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तीसरे चरण की वोटिंग जारी

मोदी का विकास: भूख से तड़पकर कर महिला की मौत, नहीं मिला सरकारी राशन

रांची: यह खबर उन लोगों को अच्छी नहीं लगेगी जिनकी आँखों पर भक्त और अंधभक्त का चश्मा लगा हुआ है। यह खबर उन्हें भी पसंद नहीं आयेगी जिन्हें लगता ही कि देश में मोदी मॉडल छाया हुआ है और विकास के ‘समुद्र’ बह रहे हैं। क्योंकि यह खबर उसी बीजेपी शासित राज्य की है जहाँ ही मिटटी से काला हीरा तो निकलता है लेकिन उनकी जिन्दगी किसी नर्क से कम नहीं है।

सरकार के दावे और वादे एक झटके में धडाम हो जाते हैं जब ऐसी खबरें आती है कि आजादी के 70 साल बाद भी देश में किसी की भूख से तड़प कर मौत हो जाती है। फिर चाहे दुनिया में भारत के नाम का डंका ही नहीं ड्रम बजता तो भी वह किसी काम न नहीं है जब देश में ही लोग भूखे सोते हो और भूख से मर जाते हों। अभी मई माह में ही पीएम नरेंद्र मोदी ने झारखंड को विकास के मामले में ‘अमेरिका’ साबित करने की कोशिश की थी। साथ ही गरीब और दलित महिलाओं के जीवन सुधार के लिए मुद्रा योजना के नाम पर अपनी पीठ थपथपाई थी, उनके रैली और कार्यक्रम के दस दिन बाद ही उसी झारखंड के गिरीडीह में एक वृद्ध महिला की भूख से तड़प कर मौत हो जाती है। यही है साहेब का कथित विकास? जिसके नाम पर भक्त और अंधभक्त नंगे होकर भी नाचने को तैयार हैं?

UP: पांच माह में चार बड़ी हार, दिल्ली तलब हुए सीएम योगी?

अपने पैसे से वर्दी, शूज जैसा जरुरी सामान खरीदेंगे सेना के जवान, सरकार के पास नहीं है बजट!

दरअसल झारखंड के गिरीडीह जिले के डुमरी इलाके में सावित्री देवी नाम की (58) वृद्ध महिला भूख से तड़प कर मौत हो गयी। क्योंकि उसके घर में तीन दिन से खाने को कुछ नहीं था। यहाँ के एमओ शीतल प्रसाद ने मामले पर कहा कि अथॉरटीज की लापरवाही के कारण सावित्री देवी का राशन कार्ड नहीं बना। वहीँ मृतक वृद्ध महिला की बहु सरस्वती देवी ने कहा कि उनके परिवार में उन दोनों के सिवा कोई भी नहीं है। मृतक महिला के दो बेटे कमाने के लिए बाहर गये थे लेकिन कुछ समय से उनका भी कोई पता नहीं है। जिसके कारण वह भीख मांगकर खाने को मजबूर हैं। क्योंकि सरकारी राशन उन्हें मिलता नहीं है। वहीँ पूरे मामले पर डुमरी के विधायक जगरनाथ महतो ने कहा कि यह दुखद मामला है। अधिकारीयों की लापरवाही ने एक महिला की जान ले ली। ऐसे में सवाल उठता है कि पीएम नरेंद्र मोदी किस कथित विकास की बात करके करते हैं? जब उनके ही बीजेपी शासित राज्य में भूख से तड़प पर महिला की मौत हो जाती है।

यह भी देखें-

loading...