Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

एक बार फिर बंगाल हुआ लाल, गोलियों से की छलनी...

नोएडा : लोकसभा चुनाव 2019 के दरम्यान पश्चिम बंगाल में जारी खून खेल अब भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसा कोई भी दिन न हो जिस दिन बंगाल में हिंसा नहीं होती हो। एक बार फिर इसी हिंसा के ओट में एक और नेता की हत्या कर दी गई है, जो टीएमसी का बताया जा रहा है। टीएमसी इस कार्यकर्ता के हत्या का आरोप बीजेपी पर मढ़ रही है। आपको बता दें कि इससे पहले भी कितने आत्मघाती हमलों में कई बीजेपी नेता और टीएमसी नेता एवं कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है। जिसके कारणों का पता अभी तक नहीं लगाया जा सका है।

ताजा मामला मुर्शिदाबाद के हरिहरपारा इलाके का है। यहां बंगाल सुप्रीमो ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के नेता सैफुल हसन की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। जानकारी के अनुसार, यहल हत्या तब की गई थी जब सैफुल हरिहरपारा में किसी का इंतजार कर रहे थे, इसी दौरान एक गाड़ी उनके पास आई और उन पर आतमघाती हमला कर दिया। सैफुल की मौत मौके पर ही हो गई। बता दे कि सैफुल हसन हुमाईपुर गांव की सरपंच अरदोसा बीबी के शौहर थे।

घटना के बाद से इलाके में तनाव की स्थिति है, पुलिस हत्यारों का पता लगाने की कोशिशों में जुटी हुई है। एक बार फिर टीएमसी ने इस हत्या के पीछे राजनीतिक साजिश का आरोप लगाते हुए, बीजेपी को इसका जिम्मेदार बताया।  गौरतलब है कि इससे पहले भी मुर्शिदाबाद में तीन टीएमसी और बीजेपी नेताओं की हत्या की गई थी, जिसका आरोप इन्होंने एक दूसरे पर लगाया था।

loading...