Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

सबूत मिटाने की कोशिश कर रही है दीदी: मोदी

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के तहत अंतिम चरण की वोटिंग से पहेल कोलकाता में अमिता शाह के रोड शो के दौरान भड़की हिंसा के बाद पीएम मोदी की सुरक्षा में तौनात एसपीजी ने मोदी की मथुरापुर रैली में संभावित हिंसा की आशंका जतायी थी। हालांकि इसके बाद भी मोदी अपने तय कार्यक्रम के तहत मथुरापुर में रैली की और ममता पर करारा वार भी किया।

रैली में संभावित हमले को दरकिनार करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बीते तीन-चार दिनों से यहां (बंगाल) जो हो रहा है, वह आप सभी देख रहे हैं। टीएमसी के गुंडों ने नरक बना रखा है। यहां जिस प्रकार की हिंसा फैला रखी है, उससे गणतंत्र बदनाम हुआ है। अमित शाह के रोड शो में भड़की हिंसा के दौरान ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के लिए ममता के आरोपों का खंडन किया और इसके लिए टीएमसी को जिम्मेदार बताया।

उन्होंने कहा कि इन गुंडों ने रात में महान शिक्षाविद् और समाज सुधारक ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी। उस कॉलेज में सीसीटीवी कैमरा लगे थे, लेकिन क्या कारण है कि सरकार नारदा-शारदा घोटालों के सबूतों की तरह इसके भी सबूत मिटा रही है। आज ईश्वर चंद विद्यासागर जहां भी होंगे, वह देख रहे होंगे कि कौन सा दल बंगाल के गौरव की रक्षा की लड़ाई लग रहा है और कौन घुसपैठियों की रक्षा कर रहा है।

ममता बनर्जी को आड़े हाथो लेते हुए मोदी ने कहा कि कल मीडिया में मैंने देखा कि दीदी ने बीजेपी के दफ्तर पर कब्जा करने की भी धमकी दी है। दीदी बीजेपी के कार्यकर्ताओं के घर पर कब्जा करने की भी धमकी दे रही हैं। ये साफ दिखाता है कि वोट बैंक की राजनीति के लिए दीदी किस स्तर पर जा सकती हैं। इसके साथ ही मोदी ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री नहीं मामने और गुंडा बताने जैसे मसले पर ममता बनर्जी पर जोरदार हमला किया।

वहीं ममता के वार पर पलटवार करते हुए मोदी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद से लेकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी तक बीजेपी के चिंतन को गढ़ने में बंगाल की संस्कृति का बहुत बड़ा योगदान रहा है। बंगाल के गौरव की रक्षा करना बीजेपी की प्राथमिकता है। बीजेपी पर इस विशेष आशीर्वाद के साथ ही बंगाल की जनता दीदी को लोकतंत्र का असली मतलब भी समझाने जा रही है। वहीं पीएम ने बंगाल में अपनी अन्य चुनावी सभाओं की तरह यहां भी जनता से 'चुपचाप कमल छाप' और 'बूथ बूथ से टीएमसी साफ' जैसे नारे भी लगवाए।

loading...