Breaking News
  • दिल्ली : बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 1106 कोरोना केस आए सामने, 13 की हुई मौत
  • यूपी : लॉकडाउन के बाद से लौट चुके हैं 27 लाख प्रवासी मजदूर
  • देश में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 1 लाख 65 हजार 799, अब तक 4706 मौतें, 71105 ठीक
  • LNJP मोर्चरी में शवों की दुर्दशा पर हाईकोर्ट सख्त, MCD और दिल्ली सरकार को भेजा नोटिस
  • बढ़ते कोरोना केस को देखते हुए हरियाणा सरकार ने दिल्ली से सटी सभी सीमा को किया सील

बाढ़ के चपेट में आधे से अधिक हिंदुस्तान, लेकिन बंगाल को सता रहा है गर्मी

नोएडा : ये कुदर का करिश्मा नहीं तो क्या है, लेकिन ये जानलेवा है,  ऐसा ही जारी रहा तो पता नही कैसा गजब हो जाए, गौर कीजिए कि जहां देश के ज्यादातर हिस्से बाढ़ की चपेट में आकर पानी पानी हुआ है। वहीं पश्चिम बंगाल का बर्धवान और इसके आस पास के लोगों की आंखे बारिश की दो-चार बूंदों को तरस गई हैं। एक ओर महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक में बाढ़ और बारिश के चौतरफा हमलों ने कईयों की दुनिया उजाड़ दी, वहीं बर्धवान में लगातार पड़ रही प्रचंड गर्मी किसानों के पेट पर लात मार रही है। नतीजा ये है कि अब लोगों की इकलौती उम्मीद कुदरत ही बची हैं।

तस्वीरें पूर्व बर्धवान जिले की है, यहां अल्लाह के इबादत में जुटे ये लोगो बारिश की दुआ मांग रहे हैं। जिसकी चाहत है कि किसी भी तरह कुदरत उनपर बारिश की कुछ फुहार दे दें। मदरसा मार्गाज की ओर से बारिश के लिए आयोजित विशेष नमाज और दुआ मजलिस कार्यक्र में आसपास के हजारों लोग शामिल हुए और बारिश की दुआएं मांगी।

इस नमाज और दुआ मजलिस में न केवल मुस्लिम समुदाय बल्कि हिन्दू समेत अन्य समुदाय के लोगो ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। बारिश की बाट जोह रहें लोगों की निगाहें आसमान की ओर टिकी है। यहां के लोग बताते हैं कि बारिश नही होने की वजह से आस पास के इलाके के किसानों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्हें खेती के लिए उचित मात्रा में पानी नही मिल पा रहा है। जिसके कारण उनकी जान आफत में पड़ती जा रही है।

loading...