Breaking News
  • कुलभूषण जाधव मामले में आज आएगा फैसला, पाकिस्तानी वकील पहुंचे हेग
  • प्रयागराज : सपा सांसद अतीक अहमद के कई ठिकानों पर छापा
  • सिद्धू के इस्तीफे पर आज फैसला लेंगे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर
  • कर्नाटक मामले में आज सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा फैसला

इस ट्रांसजेंडर को सभी ने ठुकराया लेकिन मायावती ने अपना लिया!

भुवनेश्वर: उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायवती की बहुजन समाज पार्टी ने ओडिशा में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए एक ट्रांसजेंडर उम्मीदवार काजल नायक चुनावी मैदान में उतारने का फैसला किया है। मिली जानकारी के अनुसार, पार्टी ने काजल को जाजपुर जिले की कोरई विधानसभा सीट से टिकट देने का फैसला किया है।

पार्टी द्वार टिकट के आश्वासन के बाद काजल चुनावी तैयारियों में जुटी हैं। बीजेपी से टिकट पाने के बाद उन्होंने अपनी खुशी जाहिर करते हुए अन्य पार्टियों के प्रति नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि बीएसपी ने मुझे टिकट देने का फैसला किया है।

जानिए कैन हैं दीक्षा डागर, 18 साल की उम्र में रच दिया इतिहास

काजल ने कहा कि, मैंने कई पार्टियों से संपर्क किया लेकिन किसी ने भी मुझे टिकट देने में रुचि नहीं दिखाई। उन्होंने कहा कि, मुझपर और ट्रांसजेंडर कम्युनिटी पर भरोसा दिखाने के लिए मैं बीएसपी का धन्यवाद करती हूं। बता दें कि  काजल ट्रांसजेंडर असोसिएशन ऑफ जाजपुर की अध्यक्ष हैं।

एक समाजिक कार्यकर्ता के तौर पर अपनी पहचान रखने वाली काजल ट्रांसजेंडर समुदाय के अधिकारों के साथ-साथ स्थानीय मुद्दों के लिए भी काम करती रही हैं। उन्होंने कहा कि, क्षेत्र में ट्रांसजेंडर कम्युनिटी से जुड़े कई ऐसे मुद्दे हैं, जिन्हें उठाया जाना चाहिए। मैं क्षेत्र के स्थानीय लोगों के साथ-साथ ट्रांसजेंडर कम्युनिटी से जुड़े मुद्दे भी उठाना चाहती हूं।

श्रद्धा कपूर नहीं अब ये एक्ट्रेस बनेंगी साइना नेहवाल

वहीं काजल को टिकट दिए जाने के मामले को लेकर बीएसपी नेता कृष्ण चंद्र सगारिया ने कहा कि बीएसपी सभी समुदायों के सामाजिक सशक्तीकरण में विश्वास रखती है। उन्होंने कहा कि, ट्रांसजेंडर्स के बारे में कोई बात नहीं करता, अगर हम उनका विकास चाहते हैं तो हमें उन्हें मुख्यधारा में लाना होगा। इसीलिए पार्टी ने काजल को टिकट दिया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, ओडिशा की 147 विधानसभा सीटों के लिए 11 अप्रैल से चुनाव शुरू होंगे। इस वर्ष राज्य विधानसभा चुनाव का औयोजन चार चरणों में किया जाएगा।

मौत से पहले किया सहेली को फोन, ‘मां को बता देना कि आज यह जिंदा नहीं छोड़ेगा'

loading...