Breaking News
  • दिल्लीः पूर्व भाजपा अध्यक्ष मांगेराम गर्ग का निधन
  • पूर्व मुख्यमंत्री और दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित का दिल्ली में अंतिम संस्कार
  • महेंद्र सिंह धोनी ने वापस लिया वेस्टइंडीज़ दौरे से नाम
  • भारतीय एथलीट हिमा दास ने 400 मीटर रेस में मारी बाजी, एक महीने में 5वां गोल्ड मेडल

यज्ञ से बदलेगी नक्सलियों की विचारधारा !

रांची:  झारखंड के चतरा जिले में 12 फरवरी से दस दिवसीय यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम की शुरुआत प्रदेश के मुख्यमंत्री रघुवर दास करेंगे। दस दिवसीय नौ कुण्डीय श्री राम महायज्ञ काफी दिनों से क्षेत्र भर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

दरअसल चतरा जिले के अति पिछड़ा प्रखण्ड लावालौंग में 12 फरवरी से नौ कुण्डीय श्री राम महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। यग के लिए बनाया गया मंडप लगभग 96 फिट चौड़ा व 90 फिट ऊँचा है, इसी वजह से लोगों में चर्चा का केंद्र बना हुआ है यज्ञ स्थल।

बताया जा रहा है कि इस यज्ञ मण्डप में वाराणसी और अयोध्या से लगभग 300 ब्राह्मण और साधु संतों का मंत्रोच्चारण सुनने को मिलेगा, और प्रदेश के मुख्यमंत्री इस कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। मुख्यमंत्री रघुवर दास यहां एक योजना बनाओ अभियान कार्यक्रम को लेकर भी आ रहे है।

1995 में प्रखंड बना लावालौंग क्षेत्र आज भी विकास से वंचित है, यहां के लोग आज भी ‘लाल टेन यूग में जीने को मजबूर है। और मुख्यमंत्री के आने की खबर ने सुन सालों से विकास के इंतजार में बैठी जनता एक बार फिर से अपने लिए विकास का सपना संजोए बैठी है। मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर  यज्ञ कमेटी के साथ साथ जिला प्रशासन भी तैयारियों में जुटी है।


आप को बता दे कि लावालौंग नक्सल प्रभावित क्षेत्र के अलावा अफीम जोन के रूप में भी जाना जाता है, इस बात की पुष्टी यज्ञ आयोजन कर्ता बाबा बिन्ता दास त्यागी ने किया है। उनका कहना है की यज्ञ के बाद यहाँ के लोगों का मन विचार सुद्ध होगा और नक्सली मुख्य धारा से जुड़ेंगे। इस यज्ञ को सफल बनाने को लेकर स्थानीय विधायक गणेश गंझु, अध्यक्ष ममता देवी, प्रमुख नीलम देवी, उप प्रमुख गोपाल सिंह भोक्ता सहित कई लोग भीड़े हुए है। 

REPORT BY: SANJEET KUMAR

loading...