Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

राहुल गांधी भारत के भावी प्रधानमंत्री, कांग्रेसियों में खुशी का ठिकाना नही!

भोपाल: आगामी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को मध्य प्रदेश दौरे पर हैं। यहां एक सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने मोदी सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला बोला। वहीं इसी सभा को संबोधित करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राहुल गांधी को देश का भावी प्रधानमंत्री बताया।

यहां जम्बूरी मैदान में आयोजित आभार सम्मेलन में राहुल गांधी की मौजूदगी में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि, राज्य की जनता ने अभी राज्य विधानसभा में कांग्रेस का झंडा फहराया है और अब राज्य की जनता लोकसभा में भी कांग्रेस का झंडा फहराएगी।

कर्नाटक बजट: शायद ही किसी CM के साथ ऐसा हुआ होगा

साथ ही उन्होंने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि, राहुल गांधी देश के भावी प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने कहा कि, देश के नौजवान, किसानों और महिलाओं को इंतजार है कि कितनी जल्दी भाजपा की मोदी सरकार को विदा करें। हालांकि देश की मौजूदा राजनीतिक हालात देखते हुए ऐसा नहीं लगता कि कमलनाथ का यह कथन सच साबित हो सकते हैं।

राहुल गांधी तब प्रधानमंत्री बन सकते हैं जब कांग्रेस पार्टी अकेले या गठबंधन की सरकार बनाती है। अगर कांग्रेस पार्टी अपने दम पर पूर्ण बहुमत लेकर आती है तब राहुल के प्रधानमंत्री बनने में कोई बाध नहीं दिखता लेकिन अगर कांग्रेस के नेतृत्व में गठबंधन की सरकार बनती है तब राहुल गांधी के लिए पीएम बनना इतना आसान नहीं होगा।

सामान्य श्रेणी के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

गैर हो कि कई मैैके पर कांग्रेस पार्टी के कई सहयोगियों ने राहुल के प्रधानमंत्री बनने के मसले पर मुंह फेरते दिखे हैं। इसलिए कमलनाथ द्वारा राहुल गांधी को भावी प्रधानमंत्री बनाना महज चंद अलफाजों के अलावा कुछ और नहीं दिखता। बहरहाल आपको बता दें कि सभा को संबोधित करते हुए  सीएम ने राहुल गांधी के सानमे अपनी सरकार का लेखा जोखा भी पेश किया है।

ऑनलाइन प्लेटफार्म्स के लिए लाइलेंस जरूरी है क्या, जानिए सरकार का जवाब

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में हालिया विधानसभा चुनाव में राज्य पर 15 सालों से शासन कर रही भाजपा सरकार को हार का सामना करना पड़ा और काफी सालों बाद कांग्रेस की सत्ता में वापसी हुई हैं। अपनी सरकार का जिक्र करते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा कि, मंत्रिमंडल को शपथ लिए 45 दिन हुए हैं। इनमें से आठ दिन बाहर रहा और 37 दिन भोपाल में रहा। इस अवधि में किसानों के कर्ज माफ किए गए, युवाओं को रोजगार की पहल की, कन्या विवाह योजना की रकम बढ़ाई।

loading...