Breaking News
  • दिल्लीः कोहरे के चलते लगभग 100 ट्रेन देरी से चल रही है, कई ट्रेनों के समय में बदलाव
  • मुंबई: भारत और इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच वानखेड़े स्टेडियम में, भारत 2-0 से आगे
  • पाकिस्तान माना कि कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को लेकर पास पर्याप्त सबूत नहीं

आतंकियों के एनकाउंटर में हार गए शिवराज!

भोपाल: भोपाल सेंट्रल जेल से फरार सिमी आतंकियों के एनकाउंटर मामले में उठ रहे सवालों से परेशान शिवाराज सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए है। इस मुठभेड़ को लेकर कई तरह के सवाल उठाए जा रहे है, जिसमें इसे फर्जी मुठभेड़ भी बताया जा रहा है।

मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा दिए गाए न्यायिक जांच के आदेश के बाद इसकी जांच मप्र हाईकोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एस़ के. पांडे की निगरानी में की जाएगी। इस क्रम में सिमी आतंकियों के जेल से भागने से लेकर मुठभेड़ तक के सभी पहलुओं की जांच की जाएगी।

गौर हो कि दिवाली की रात सिमी के आठ विचाराधीन कैदी सुरक्षा गार्ड रमाशंकर यादव की गला रेतकर हत्या कर जेल से फरार हो गए, जिसके आठ घंटे बाद ही 10 किमी की दूरी पर सभी आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराने का दावा किया गया।

आपको बता दें कि खबरें ऐसी भी है कि जिस रात यह घटना हुई थी, उस रात जेल के लगभग 80 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती कहीं दूसरे जगह कर दी गई थी। इसके बाद जेल प्रशासन भी सवालों के घेरे में है, हालांकि मामले की सारी सच्चाई अब जांच के बाद ही सामने आएगी।

गौर हो कि सरकार और पुलिस पर लग रहे आरोपों को देखते हुए राज्य सरकार ने पहले मामले की जांच पूर्व पुलिस महानिदेशक नंदन दुबे को सौंपा था। हालांकि इस दौरान सीएम ने एनआईए जांच की भी बात कहीं थी।