Breaking News
  • निफ्टी ने पार किया 10,000 का आंकड़ा, बीएसई सेंसेक्स भी करीब 100 अंक उछला
  • मुक्केबाज सचिन सिवाच को मिला राष्ट्रमंडल युवा खेलों में स्वर्ण पदक
  • नई दिल्ली: देश के 14वें राष्ट्रपति के तौर पर रामनाथ कोविंद का शपथ समारोह आज
  • देश के कई हिस्सों में बाढ़ का कहर- बचाव कार्य में जुटे एनडीआरएफ और सेना के जवान

आतंकियों के एनकाउंटर में हार गए शिवराज!


भोपाल: भोपाल सेंट्रल जेल से फरार सिमी आतंकियों के एनकाउंटर मामले में उठ रहे सवालों से परेशान शिवाराज सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए है। इस मुठभेड़ को लेकर कई तरह के सवाल उठाए जा रहे है, जिसमें इसे फर्जी मुठभेड़ भी बताया जा रहा है।

मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा दिए गाए न्यायिक जांच के आदेश के बाद इसकी जांच मप्र हाईकोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एस़ के. पांडे की निगरानी में की जाएगी। इस क्रम में सिमी आतंकियों के जेल से भागने से लेकर मुठभेड़ तक के सभी पहलुओं की जांच की जाएगी।

गौर हो कि दिवाली की रात सिमी के आठ विचाराधीन कैदी सुरक्षा गार्ड रमाशंकर यादव की गला रेतकर हत्या कर जेल से फरार हो गए, जिसके आठ घंटे बाद ही 10 किमी की दूरी पर सभी आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराने का दावा किया गया।

आपको बता दें कि खबरें ऐसी भी है कि जिस रात यह घटना हुई थी, उस रात जेल के लगभग 80 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती कहीं दूसरे जगह कर दी गई थी। इसके बाद जेल प्रशासन भी सवालों के घेरे में है, हालांकि मामले की सारी सच्चाई अब जांच के बाद ही सामने आएगी।

गौर हो कि सरकार और पुलिस पर लग रहे आरोपों को देखते हुए राज्य सरकार ने पहले मामले की जांच पूर्व पुलिस महानिदेशक नंदन दुबे को सौंपा था। हालांकि इस दौरान सीएम ने एनआईए जांच की भी बात कहीं थी।

loading...