Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

पति की हत्या करने वाली अपूर्वा की पूरी कहानी, मेट्रोमोनियल साइट पर हुई थी पहली मुलाकात

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व दिवंगत कांग्रेसी नेता एन डी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की हत्या मामले में आखिरकार उनकी पत्नी अपूर्वा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दें कि रोहित और अपूर्वा की प्रेम कहानी किसी फिल्मी पटकथा के समान दिखती है। जिसमें प्यार, इश्क और नफरत की प्रचुर मात्रा है। इससे पहले बता दें कि रोहित की हत्या उनके दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी स्थित उनके आवास में ही हुई है।

रोहित की हत्या के 9 दिन बाद पुलिस ने अपूर्वा को गिरफ्तार किया है। पुलिस की माने तो अपूर्वा ने अपना अपराध कबूल किया है, जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी हुई है। क्राइम ब्रांच के अनुसार, अपूर्वा शुक्ला तिवारी रोहित के साथ शादीशुदा जिंदगी से नाखुश नहीं थी। जिसके कारण रोहित की हत्या कर दी। इस हत्या में अपूर्वा के अलावा किसी और की कोई भूमिका फिलहाल नहीं मिली है। अब तक की जांच और पूछताछ के आधार पर पुलिस ने बताया कि अपूर्वा ने अकेले ही रोहित गला और मुंह दबाकर हत्या कर दी।

आपको बता दें कि रोहित की पत्नी अपूर्वा सुप्रीम की वकील हैं। अपूर्वा और रोहित की पहली मुलाकात मेट्रोमोनियल साइट के जरिए हुई थी। जिसके बाद साल 2017 में दोनों लखनऊ में एक दूसरे से मिले थे और दोनों का प्यार परवान चढ़ा। प्यार बंधन को शादी का नाम देते हुए रोहित ने 31 मार्च को अपूर्वा संग सगाई की और फिर 11 मई को दिल्ली में पांच अशोका रोड स्थित आनंद भवन में दोनों ने सात फेरे लेते हुए सात जन्मों तक साथ निभाने की कसमें खाई। लेकिन इनके अटूट संबंध पहले जन्म में ही ताश के पत्तों की तरह बिखर गए।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो अपूर्वा को अपने पति पर अवैध संबंध का न सिर्फ शक का बल्कि उसने अपने पति को उसकी गर्लफ्रेंड के साथ भी देखा था। जो रोहित की हत्या का कारण बना। हालांकि पहले अपूर्वा इस बात से इनकार कर रही थी कि रोहित की हत्या उसने की है। लेकिन पुलिसिया पड़ताल में अपूर्वा टूट गई और उन्होंने अपना अपराध कबूल कर लिया। जिसके बाद अब उनके खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

loading...