Breaking News
  • MSG कंपनी के सीईओ सीपी अरोड़ा गिरफ्तार, हनीप्रीत को फरार करने का आरोप
  • नोटबंदी की बदौलत 2 लाख से ज्यादा फ़र्ज़ी कंपनियां हुई बंद: पीएम
  • राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का लोकार्पण
  • स्पेन,पुर्तगाल में लगी आग से 35 लोग मारे गए, स्थिति अभी भी भयावह

पुराने नोट बदलने के जुगाड़ में लगे है नक्सली संगठन!

रांची: देश भर में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद होने के बाद से देश की जनता परेशानियों को झेलते हुए भी सरकार के फैसले के साथ कदम से कदम मिला कर चल रही है। लेकिन इस क्रम में काले धान वाले लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा रहा है।

सरकार के इस फैसले ने आतंकी संगठन और नक्सलियों की एक तरह से कमर ही तोड़ दी है। लेकिन इस क्रम में ऐसी खबरे भी आ रही है कि सभी काले धन वाले अपने पैसों को सफेद करने के लिए तरह-तरह के जुगाड़ कर रहे है, और इसमें उनका साथ देने वाले भी काफी लोग सामने आ रहे है।

ऐसा ही एक मामला सामने आया है भाजपा शासित राज्य झारखंड से, खबरों के अनुसार राजधानी रांची के पास से नक्सलियों के 25 लाख रुपये बैंक में जमा कराने की कोशिश करने के आरोप में बेरो के एक पेट्रोल पंप के मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

पेट्रोल पंप मालिक नंद किशोर को पुलिस ने गुरुवार देर शाम पैसों के साथ बैंक जाने के दौरान रास्ते में ही दबोच लिया। जानकारी के अनुसरा पूछताछ में नंद किशोर ने इस बात को स्वीकार किया है कि ये पैसे प्रतिबंधित माओवादी संगठन 'पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया' के अध्यक्ष दिनेश गोप का है।

गौर हो कि नंद किशोर अपने पेट्रोल और डीजल कमाई की आड़ में नक्सलियों के इस काले पैसों को अपने खाते में जमा करा कर इस सफेद करने की फिराक में था। हालांकि सरकार की सभी एंजेसियां फिलहाल चौकन्नी है और एक के बाद एक ऐसे कई अपराधी दबोचे जा रहे है।

loading...