Breaking News
  • मध्य प्रदेश में तूफान निसर्ग का कहर, कई जिलों में भारी बारिश दर्ज
  • राहुल गांधी ने कहा, लॉकडाउन के असफल होने के बाद केंद्र ने राज्यों पर छोड़ा फैसला
  • लद्दाख : भारत ने तैनात किया LAC सीमा पर बोफोर्स तोप
  • नोएडा में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 500 पार, मिले 25 नए मरीज
  • देश भर में कोरोना के 216,919 मामले, 6,075 की मौत, 104,107 हुए ठीक

‘वायु’ की खौफ में गुजरात, प्रशासन मुस्तैद

नोएडा : चारों तरफ गर्मी की तपीस, धूपों का कहर इस चिलचिलाती धूप में सिरों को चकराता शहर। इन सभी के बीच केरल में मानसून ने दस्तक दे दी है। जिसके बाद केरल में थोड़ी राहत महसूस की गई है। इस मानसून का असर मुंबई एवं अन्य राज्यों में भी देखने को मिला। लेकिन इन्हीं राहत देनेवाली खबरों में गुजरात से एक ऐसी खबर आ रही है, जिसने गुजरात के लोगों के दिलों का धड़कन बढ़ा दिया है।

गौरतलब है कि अरब सागर के ऊपर बने चक्रवाती तूफान ‘वायु’ की रफ्तार बढ़ गई है और तेजी से वह उत्तर पश्चिम की तरफ से गुजरात की ओर बढ़ रहा है। मौसम विभाग के अनुसार, इस तूफान के चलते देश के पश्चिमी तटों पर तेज बारिश हो सकती है। चक्रवाती तूफान 12-13 जून को सौराष्ट्र तट पर दस्तक दे सकता है, इसकी गति 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे से 135 किलोमीटर प्रति घंटे रह सकती है।

‘वायु’ तूफान की आशंका को देखते हुए गुजरात में प्रशासन को मुस्तैद कर दिया गया है। जिसके लिए NDRF की 22 टीमों की भी तैनाती की गई है, जरुरत पड़ने पर दूसरे राज्यों से भी NDRF की 10 और टीमों को बुलाया जाएगा। मंगलवार को एनडीआरएफ की चार अतिरिक्त बटालियन को भेजा गया है।

बता दें कि इससे पहले भी सोमवार को एनडीआरएफ की पांच टीमों को गुजरात भेजा गया था। जो बाढ़ प्रबंधन से जुड़े उपकरण, मेडिकल किट समेत सभी जरूरी सामानों से लैस हो कर पहुची हैं। इस तूफान के कारण अहमदाबाद, गांधीनगर और राजकोट में भी बारिश हो सकती है। इसके अलावा तटीय क्षेत्र वेरावल, भुज और सूरत में हल्की बारिश की संभावना है। जिसे लेकर प्रशासन ने अगले कुछ दिनो तक मछुआरो को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है।

loading...