Breaking News
  • MSG कंपनी के सीईओ सीपी अरोड़ा गिरफ्तार, हनीप्रीत को फरार करने का आरोप
  • नोटबंदी की बदौलत 2 लाख से ज्यादा फ़र्ज़ी कंपनियां हुई बंद: पीएम
  • राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का लोकार्पण
  • स्पेन,पुर्तगाल में लगी आग से 35 लोग मारे गए, स्थिति अभी भी भयावह

पार्क में KISS कर रहे थे लड़का-लड़की, वहां अचानक आ गई पुलिस...

BHOPAL:- भोपाल के चिनार पार्क में उस वक्त हड़कंप मच गया जब अचानक से महिला पुलिस की टीम वहां आ धमकी। कुछ प्रेमी जोड़े पार्क में अश्लील हरकतें भी कर रहे थे, तो कुछ स्टूडेंट स्कूल ड्रेस में लिप-लॉप कर रहे थे।

जैसे ही पुलिस पहुंची कुछ कपल्स भाग खड़े हुए। दरअसल भोपाल का चिनार पार्क हमेशा से ही प्रेमी जोड़ों के लिए सबसे सुरक्षित स्थान माना जाता है। यहां आए दिन ऐसे नजारे देखे जा सकते हैं।

महिला पुलिस का कहना है कि कई लड़कियां घर से कॉलेज और स्कूल जाने का कह कर निकलती हैं, लेकिन वहां न जाकर लड़कों के साथ पार्कों में आ कर बैठी रहती है। यही वजह है कि कई लड़कियां लड़कों के बहकावे में आकर उनके गलत इरादों का शिकार भी हो जाती है।

अचानक पार्क में पहुंची महिला पुलिस फिलहाल लड़के-लड़कियों को समझाइश देकर छोड़ दिया है। लेकिन, उनके परिजनों को कॉल करके इसकी सूचना दे दी है, ताकि परिवार के लोगों को यह पता चल सके कि उनके बच्चे स्कूल-कॉलेज का कहकर पार्क में मौज मस्ती कर रहे हैं। महिला पुलिस का कहना है कि हम सिर्फ लड़कियों को जागरूक करने के लिए यहां पर आए हैं। लड़कियां बहुत जल्दी लड़कों के बहकावे में आकर पढ़ाई-लिखाई छोड़कर मौज मस्ती करने निकल जाती है।

जिसके परिणाम उन्हें बाद में भुगतना पड़ते हैं। जब हमने यहां पर कार्यवाही की तो हमें भी यहां पर कई जोड़े अश्लील हरकतें करते हुए मिले, जिन्हें समझाइश देकर और उनके परिजनों से बात करके हमने पार्क से भगा दिया।

महिला अधिकारी का कहना है कि हम लड़कियों की काउंसलिंग कर रहे हैं। यदि कल के दिन उनके साथ किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना घट जाती है, तो उन्हें अपनी सुरक्षा स्वयं करनी आना चाहिए। हालांकि, उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस हमेशा तत्पर है लेकिन उन्हें भी जागरूक होने की जरूरत है।

महिला पुलिस अधिकारी का कहना है कि भोपाल के चिनार पार्क में जितनी भी लड़कियां मिली है सभी कम उम्र की और नासमझ थी। इसीलिए उन्हें समझाइश देकर छोड़ दिया।

कई जोड़े तो पुलिस को देखकर भागने लगे थे, लेकिन हमने उन्हें रोक कर समझाया कि हम आपको पकड़ने के लिए नहीं बल्कि जागरूक करने के लिए आए हैं। यदि लड़कियां जागरूक होंगे तो वह कभी भी किसी अप्रिय घटना का शिकार नहीं होंगी। यही बात काउंसलिंग के दौरान लड़कियों को समझाई गई।

loading...