Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

भीड़ के हाथों मारे गए पहलू खान को पुलिस ने बताया गौ तस्कर, दोनों बेटे भी आरोपित

नोएडा : आज से तकरीबन दो साल पहले राजस्थान के अलवर में भीड़ के हाथों मारे गए पहलू खान के विरूद्ध पुलिस ने चार्जशीट दायर कर ली है। इस चार्जशीट में पुलिस ने पहलू खान सहित उनके दोनों बेटों (इरशाद, आरिफ) को आरोपित माना है। पुलिस ने यह चार्जशीट राजस्थान गोजातीय पशु (वध पर प्रतिबंध और अस्थायी प्रवासन या निर्यात का विनियमन) कानून एवं नियमों की धारा 5, 8 और 9 के तहत नामजद किया है। बता दें कि पुलिस ने यह चार्जशीट 24 मई को दाखिल की थी।

आपको बता दें कि अप्रैल 2017 में पहलू खान गो तस्करी के आरोप के कारण मॉब लिंचिंग के शिकार हो गये थे। जिसमें वो काफी चोटिल हो गया था, जिसके बाद उसकी मौत भी हो गई । उस समय बीजेपी में राजस्थान की सरकार थी, जिस कारण विपक्षी पार्टी कांग्रेस के नेताओं ने बीजेपी पर एक खास समुदाय के खिलाफ नफरत फैलाने का आरोप लगा था। अब चूंकि कांग्रेस राजस्थान में सरकार में है और पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की है।

 

जिससे एक बार फिर विवाद छिड़ गया है। विवादों पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जरूरत हुई तो दोबारा जांच की जाएगी। गहलोत ने कहा, ''इस मामले की जांच पूर्व में बीजेपी सरकार के दौरान की गई थी और चार्जशीट पेश की गई थी। अगर जांच में कोई गड़बड़ी पाई जाएगी, तो मामले की फिर से जांच की जाएगी।''

 

पहलू खान के खिलाफ पुलिस द्वारा चार्जशीट दाखिल किए जाने पर AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी और कांग्रेस दोनों पर निशाना साधा है। ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, ''राजस्थान के मुस्लिमों को यह निश्चित तौर पर समझना होगा कि कांग्रेस का सत्ता में होना बीजेपी का ही एक रूप है। ऐसे व्यक्तियों/संगठनों को अस्वीकार करना होगा जो कांग्रेस पार्टी की दलाली करते हैं और उन्हें अपना स्वतंत्र राजनीतिक मंच बनाना चाहिए, बदलाव के लिए 70 साल काफी होते हैं। कृप्या बदलें।''

 

वहीं 2017 में पहलू खान की मॉब द्वारा हमला किए जाने के बाद चर्चा में आए बीजेपी नेता ज्ञान देव आहूजा ने कहा कि मेरा दावा बिल्कुल ठीक हुआ। पहलू खान, उसके भाई और बेटे आदतन अपराधी थे और लगातार गो तस्करी में शामिल थे। गो रक्षक और हिंदू परिषद पर लगाए गए सभी आरोप गलत थे।''

इसी मामले पर अलवर से विधायक रहे आहूजा ने कहा, ''स्थानीय लोगों ने पहलू खान की गाड़ी को पकड़ा जिसमें वे गायों की तस्करी कर रहे थे और उन्होंने सिर्फ उन्हें रोका था। उनकी पुलिस हिरासत में मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने उनकी पिटाई नहीं की थी। अब जब उनके खिलाफ आरोप पत्र दायर किया गया है, तो कांग्रेस श्रेय ले रही है। लेकिन कांग्रेस ने तब उनके परिवार को वित्तीय मदद दी थी।''

loading...