Breaking News
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश के एक दिवसीय यात्रा पर
  • अमेरिका का दक्षिण कोरिया के साथ संयुक्त सैन्याभ्यास रद्द
  • जम्मू-कश्मीर: सेना ने 22 आतंकियों की हिट लिस्ट तैयार की
  • JK: PDP के साथ गठबंधन टूटने के बाद श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर BJP की रैली

‘पणब मुखर्जी ने RSS को उसके ही मुख्यालय में दिखा दिया आईना’

नागपुर:  आरएसएस मुख्यालय में तीसरे सालाना प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करने के लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को जिस दिन न्योता दिया गया था उसी दिन से कांग्रेस और वामपंथी दलों के नेता इसका विरोध कर रहे थे। कई नेताओं ने मुखर्जी को पत्र लिखकर तो कुछ ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपील किया वह आरएसएस के इस कार्यक्रम में न शामिल हो। हालांकि इन सभी बातों को दरकिनार करते हुए मुखर्जी आरएसएस मुख्यालय में पहुंचे भी और वहां मौजूद लोगों को संबोधित भी किया।

पूर्व राष्ट्रपति और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में सुमार मुखर्जी से अपनी बात मनवाने में नाकाम रही कांग्रेस पार्टी ने आरएसएस मुख्यालय में मुखर्जी के भाषण के बाद ही अपने विचार बदल दिए और कहा कि उन्होंने (मुखर्जी) आरएसएस को उसके ही मुख्यालय में ही आईना दिखाया है। मुखर्जी के भीषण के बाद तुरंत बाद कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मीडिया के सामने आकर कहा कि, मुखर्जी के संघ मुख्यालय दौरे ने काफी चिंताओं को जन्म दिया था, लेकिन आज उन्होंने आरएसएस को उसके ही मुख्यालय में आईना दिखा दिया है।

जरूर पढ़े: RSS मुख्यालय में प्रणब मुखर्जी ने याद दिलाई भारत की बहुलतावादी संस्कृति

सुरजेवाला ने कहा कि, प्रणब मुखर्जी ने आरएसएस को भारत का इतिहास याद दिलाया, आरएसएस को ज्ञान दिया कि भारत की सुंदरता अलग-अलग विचारों, धर्मों और भाषाओं के प्रति सहिष्णुता में है। क्या आरएसएस इसे सुनने को तैयार है?  उन्होंने (सुरजेवाला) कहा कि पूर्व राष्ट्रपति ने मौजूदा मोदी सरकार को भी राजधर्म की याद दिलाई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मोहन भागवत को इन बातों का जवाब देना चाहिए।

सिर्फ प्रणब मुखर्जी ही नहीं, RSS के कार्यक्रम में ये दिग्गज भी हुए हैं शामिल

राहुल गांधी से मुलाकात के बाद तेजस्वी ने दिया बड़ा बयान, BJP के छुटे पसीने

loading...