Breaking News
  • गुजरात: 44 बिल्डर्स और फाइनेंसरों के कई ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की वार्षिक समीक्षा बैठक में वित्त मंत्री, कर्ज देने की प्रक्रिया को ईमानदार बनाएं बैंक
  • उत्तर भारत में मौसम का कहर जारी, हिमाचल में 3 की मौत, बादल फटने से मची तबाही
  • भारत-पाक विदेश मंत्रियों की वार्ता रद्द होने के बाद सार्क बैठक पर संकट

उपचुनाव नतीजा: हार से डरी सरकार ने किया मंत्रिमंडल का विस्तार!

भोपाल: मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने चुनाव से पूर्व एक बार और अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया है। शनिवार को राजभवन में शिवराज सिंह चौहान की सरकार में तीन नये चहरों को शामिल किया गया है। राज्य की राज्यपाल आनंदी देवी पटेल ने तीनों को मंत्रिपद की शपथ दिलाई।

बतादें कि चुनाव से पूर्व मध्यप्रदेश की शिवराज सराकर ने अपने मंत्रिमंडल में विस्तार किया है। शिवराज की कैबिनेट में तीन नये चेहरों को शामिल किया गया है। शनिवार सुबह शिवराज मंत्रिमंडल के तीन नए मंत्रियों ने शपथ ली। यह उनके मौजूदा कार्यकाल का दूसरा कैबिनेट विस्तार है। राज्य की राज्यपाल आनंदी देवी पटेल ने राजभवन में आयोजित हुए शपथ ग्रहण समारोह में नारायण सिंह कुशवाहा (कैबिनेट मंत्री), बालकृष्ण पाटीदार (राज्य मंत्री), जालम सिंह पटेल (राज्य मंत्री) पद की शपथ दिलाई है। वहीँ अभी दो और विधायकों के अच्छे दिन आने की संभावना है, उन्हें भी जल्द ही मंत्रिमंडल में जगह दी जा सकती है।

सेना पर FIR मामला: अपनी ही सरकार के मंत्री के पर बरसे बीजेपी नेता स्वामी!

शिवराज सरकार का कैबिनेट विस्तार का कार्यक्रम ऐसे समय में हुआ है जब राजस्थान के उपचुनाव में बीजेपी तीनों सीटों पर हार चुकी है। माना जा रहा है हार के बाद ही कैबिनेट विस्तार को मंजूरी मिली है। इसके पीछे कारण यह है कि 24 फरवरी को मध्य प्रदेश की कोलारस और मुंगाबली दो लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हैं।

दुनिया में सबसे ज्यादा अनुशासित है भारतीय सेना- नहीं हटेगा अफस्पा...

राजस्थान की हार के बाद बीजेपी के लिए यह सीटें नाक का सवाल बन गयी हैं। यहाँ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का दबदवा माना जाता है। ऐसे में कांग्रेस जहाँ राजस्थान के उपचुनाव में मिली जीत से उत्साहित है, तो वहीँ मध्य प्रदेश में भी इस जीत को दोहराने के मूड में है।

loading...