Breaking News
  • केरल उच्च न्यायालय ने क्रिकेटर एस श्रीसंत पर लगाए गये आजीवन प्रतिबंध को बहाल किया
  • जम्मू-कश्मीर में सीमा पर पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी में 4 नागरिक घायल
  • आज से शुरु हो रही है कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना की बैठक
  • कार सवार बदमाशों ने हरियाण की प्रसिद्ध लोक गायिका हर्षिता चौधरी हत्या की

“खुशकिस्मत हूं कि रेप के बाद नाले में नहीं मिली”, 9 में से 6 कैमरों के CCTV फुटेज गायब

चंडीगढ़: भाजपा शासित राज्य हरियाणा के भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे को पिछले दिनों में एक IAS की बेटी से छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन अब आरोपी कानूनी दाव-पेंचे में उलझा कर अपने आप को बचाना चाहता है। तो वहीं खबर है कि पुलिस अब आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए कानूनी सलाह ले रही है।

पीड़ित और आरोपी!

वैसे तो कहा जाता है कि कानून सबसे के लिए बराबर है फिर इस मामले को देख कर आप भी अंदाजा लगा सकते हैं कि कानून किस तरह से काम करती है। हालांकि मामले के लेकर फिलहाल राजनीति भी बेहज गर्म हो चली है, ऐसे में अभी आगे के घटनाक्रमों का इंतजार करना होगा।

लेकिन आपको बता दें कि कि मामले में एक के बाद एक चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि चंडीगढ़ के जिन रास्तों पर हरियाणा के IAS की बेटी वर्णिका कुंडु का पीछा किया गया था, उन रास्तों पर नौ सीसीटीवी कैमरे लगे थे, जिनमें से अब छह कैमरों की फुटेज गायब है।

हालांकि अब पुलिस इस मामले की भी जांच कर रही है कि आखिर ऐसा कैसे हुआ, गौर हो कि पीड़ित युवती ने घटना के बाद सोशल मीडिया पर लिखा, “खुशकिस्मत हूं कि रेप के बाद नाले में नहीं मिली”। आपको बता दें कि इससे पहले छेड़खानी की घटना को लेकर पीड़िता ने बता था कि उसकी कार का एसयूवी कार सवार दो लोगों ने पीछा किया, कई बार कार रोकने की कोशिश भी की।

बीजेपी नेता के बेटे पर आरोप लगाते हुए लड़की ने बताया कि विकास बराला और उसका दोस्त आशीष कुमार एक पेट्रोल पंप से ही उनकी कार का पीछा कर रहे थे और कार का दरवाज़ा खोलने की कोशिश भी की, इसके बाद उसने कई बार फोन किया तह वहां पुलिस पहुंची और उसे गिरफ्तार किया।

अब यहां सबसे बड़ा सवाल है कि अगर आरोपी नेता का बेटा न होता तो क्या वह तब भी बाहर होता है और शराब के नशे में छेड़खानी के आरोप में इतनी जलदी रिहाई भी हो जाती, और फिर मजबूर पुलिस कहती है हां हम फिर से गिरफ्तारी के लिए कानूनी सलाह ले रहे हैं, ये सभी बात चौंकाने वाली है, और उस खोखले दावों की भी पोल खोलती है, जिसमें कहा जाता हा कि कानून सबसे के लिए बराबर है!

loading...