Breaking News
  • लॉकडाउन-5 के ढ़ील पर बोले मोदी, हमें लापरवाह नहीं होना, सावधानी नहीं छोड़नी
  • देश भर में कोरोना के 173,763 केस, 4,971 लोगों की मौत, 82,370 हुए ठीक
  • जम्मू-कश्मीर के पुंछ के मेंढर सेक्‍टर में LoC के पास पाक की ओर से सीजफायर उल्‍लंघन
  • राजस्थान : सुबह 10:30 बजे तक कोरोना के 76 नए मामले, 1 की मौत
  • बिहार के मुंगेर डीएम कार्यालय तक पहुंचा कोरोना, 2 बॉडीगार्ड और 1 स्टाफ पॉजिटिव

पश्चिम बंगाल में ‘कट मनी’ पर बवाल, आसनसोल में भाजपा का विरोध प्रदर्शन

नोएडा : लोकसभा चुनाव के दौरान से ही हिंसा को लेकर देशभर में चर्चित पश्चिम बंगाल में इन दिनों कट मनी पर बवाल मचा है। राज्य भर में कट मनी पर जारी हो हंगामे के बीच बीजेपी आसनसोल नागर निगम का घेराव करने जा रही है। लेकिन इससे पहले पूरे आसनसोल शहर में कर्फ्यू जैसे हालात है। भाजपा का आरोप है कि उनके इस प्रदर्शन की सूचना मिलने के बाद कथित तौर पर टीएमसी की ओर से यहां रक्तदान शिविर के नाम पर हजारों की संख्या में टीएमसी कर्मियों को लाठियों के साथ तैनात कर दिया गया है।

आलम यह है कि पूरा आसनसोल बाजार के साथ ही साथ स्कूल और अन्य जगह भी बन्द हो गए। किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए पुलिस की ओर से यहां 5 जगह बैरिकेडिंग करने के साथ साथ बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है। आपको बता दें कि कट मनी आपके लिए भले ही नई बात हो, लेकिन बंगाल के लिए यह पुरानी समस्या रही है। जैसा की नाम से ही साफ है...

कट मनी यानी पैसों का कुछ हिस्सा, बंगाल के लिए कट मनी को ऐसे समझिये की यहां सरकारी योजनाओं के बदले लाभार्थी को लाभ का कुछ हिस्सा लाभ मिलने से पहले की बिचौलियों को देने होते हैं। आरोप है कि टीएमसी एजेंट बीते काफी समय से सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के एवज में कट मनी लेते रहे है, जिसे पीएम मोदी भी लोकसभा चुनाव में उठा चुके हैं। वहीं लोकसभा चुनाव के बाद बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने टीएमसी कार्यकर्ताओं को जनता से लिया गया कट मनी वापस लेने की बात कह चुकी है। जिसके बाद कईयों को कट मनी वापस हुए और जिनके नहीं हुए अब वे हंगामा काट रहे हैं।

loading...