Breaking News
  • 18वां कारगिल विजय दिवस आज- शहीद सैनिकों को नमन कर रहा है देश
  • फसल बीमा से जुडी कम्पनियाँ नुकसान का फ़ौरन आंकलन करें- मोदी
  • पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद कोया को कर्नाटक कोर्ट से 7 साल की सजा
  • भारत-श्रीलंका के बीच पहला टेस्ट मैच गाले में आज रंगना हेराथ संभालेंगे कप्तानी, चांदीमल बाहर
  • बाढ़ प्रभावित गुजरात में हवाई सर्वेक्षण के बाद पीएम ने किया 500 करोड़ का ऐलान
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का चीन दौरा- BRICS देशों की बैठक में लेंगे हिस्सा

उपराष्ट्रपति चुनाव: गोपालकृष्ण गांधी होंगे विपक्ष के उम्मीदवार


नई दिल्ली: मंगलवार को नई दिल्ली में हुयी विपक्षी दलों की बैठक उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम को फाइनल कर दिया गया है। कांग्रेस की अगुवाई में हुयी इस बैठम में महात्मा गांधी के पोते गोपालकृष्ण गांधी को उपराष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया गया हैं।

आज कांग्रेस की अध्यक्ष्यता में संसदीय ग्रंथालय भवन में हुई 17 विपक्षी दलों की बैठक में उपराष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी गयी है। यहाँ जुटे 17 विपक्षी दलों ने महात्मा गाँधी के पोते गोपाल कृष्ण गाधी को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। इस बैठक में उपराष्ट्रपति के मुद्दे पर आम चर्चा हुयी। मालूम हो कि कांग्रेस पहले ही कह चुकी थी कि उपराष्ट्रपति उम्मीदवार आम सहमति का होगा। जिसको लेकर सभी विपक्षी दलों ने आज आम सहमती बनाने के लिए बैठक कर गोपालकृष्ण के नाम पर मुहर लगा दी है।

बैठक में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, ए के एंटनी, डेरेक ओ ब्रायन (टीएमसी), जयप्रकाश नारायण यादव (आरजेडी), नरेश अग्रवाल (एसपी), प्रफुल पटेल (एनसीपी), तारिक अनवर, शरद यादव, उमर अब्दुल्ला, हेमंत सोरेन और अजित सिंह समेत 17 दलों के लोग शामिल हुए। वहीँ इस मुद्दे पर सत्ताधारी दल एनडीए 13 जुलाई को को कोई फैसला लेगा है। वहीँ इस बैठक से जेडीयू गायब रहा, लालू प्रसाद भी बैठक में नहीं पहुँच सके।

अमरनाथ की तर्ज पर यूपी में भी हो सकता है बड़ा आतंकी हमला?

लालू को लेकर माना जा रहा है कि सीबीआई की कार्रवाई के बाद से वह अन्य बैठकों पर रणनीति बनाने में जुटे हैं। ज्ञात हो कि जेडीयू राष्ट्रपति चुनाव के मुद्दे पर विपक्ष की राष्ट्रपति उम्मीदवार मीरा कुमार को न समर्थन देकर एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का ऐलान कर चुका है। वहीँ उपराष्ट्रपति के मुद्दे पर जेडीयू नेता नेकहा था कि वह विपक्ष के साथ रहेगा। लेकिन इस बैठक से जेडीयू ने दूरी बनाकर साफ़ संकेत दे दिया है।

loading...