Breaking News
  • 1984 सिख दंगा मामला : कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार दोषी करार
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चल रही है: रक्षा मंत्री
  • राजस्थान : अशोक गहलोत मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह भारत दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान Pethai Cyclone आज आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा

बुरी खबर: हार जीत से पहले ही रद्द हुआ मतदान, 568 बूथों पर फिर से पड़ेंगे वोट!

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में पंचायती चुनाव के दौरान जमकर बवाल हुआ था। राज्य में बड़े पैमाने पर बैलेट बॉक्स लूट लिए गये थे, मतदान केन्द्रों पर आग लगा दी गयी थीं। वहीँ अब राज्य में पंचायती चुनाव के लिए पुनः मतदान किया जाएगा।  

 

बतादें कि मीडिया में जारी जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में सोमवार को पंचायती चुनाव के दौरान जमकर उत्पात हुआ था। राज्य में जगह जगह कथित रूप से टीएससी कार्यकर्ताओं द्वारा बूथों को लूट लिया गया था। वहीँ अब आयोग ने राज्य में हिंसा प्रभावित और लुटे गये बूथों पर बुधवार को पुनः चुनाव कराने का ऐलान किया है। राज्य के 568 बूथों पर बुधवार को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान कराया जाएगा। सोमवार को हुए यहाँ पंचायती चुनाव में हिंसा भड़क गयी थी। जिसमें 10 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबरें हैं। वहीँ बड़े पैमाने पर सामूहिक रूप से मतदान केन्द्रों को लूट लिया गया था।

UP: मोदी के संसदीय क्षेत्र में ढहा निर्माणाधीन पुल, 50 से ज्यादा लोगों के फंसे होने की संभावना

कई जगहों पर मतदान केन्द्रों में आगजनी कर दी गयी थी। यहाँ भड़की हिंसा में बड़े पैमाने पर चुनाव में गडबडी की गयी थी। ऐसे में 568 बूथों पर फिर से चुनाव कराने का ऐलान किया गया है। राज्य में सोमवार को सुबह से ही पंचायती चुनाव के लिए मतदान किया जा रहा था। लेकिन इसी बीच मतदान में ही बीजेपी, सीपीएम और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा भड़क गयी। पंचायती चुनाव में भड़की हिंसा में दस से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है।

पश्चिम बंगाल में लोकत्रंत का ‘रेप, लूट लिए गये बैलेट बॉक्स, हिंसा में सात की मौत

पंचायती चुनाव के दौरान जगह जगह बम विस्फोट और बैलेट बॉक्स लूटने के की सनसनीखेज घटनाएं घटी थीं। यहाँ टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर बीजेपी के लोगों से मारपीट सहित बैलेट बॉक्स लूटने का आरोप लगाया था। मतदान केन्द्रों पर बम धमाके, मारपीट, मतदान पेटी जलाने, बैलेट पेपर लूटने की हिंसक घटनाएं हुईं थी। वहीं जिसके बाद राज्य में पंचायती चुनाव को रद्द कर दुबारा कराये जाने की मांग उठी थी।   

यह भी देखें-

loading...