Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

मां के सामने 4 बेजुबान को जिंदा जलाया, अब जांच में जुटी पुलिस

हैदराबाद: एक बार फिर से बेजुबान जानवरों पर इंसानी जुल्मो-सितम का कहर बरपा है। हैदराबाद में शनिवार को उस वक्त इंसानी क्रूरता का भयावह चेहरा दिखा, जब शनिवार को चार पपी (पिल्ले) यानी कुत्ते के बच्चे को जिंदा जलाया गया। हालांकि, यह अब तक नहीं पता चला है कि किन लोगों ने और क्यों चार पिल्ले को आग के हवाले किया। पुलिस उस इलाके में मौजूद सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है ताकि अमानवीय काम करने वालों को पकड़ा जाए।

हैवानों ने चार मासूम पपी (पिल्ले) को उसकी लाचार मां के सामने ही आग के हवाले कर दिया। पपी की मां लाचार थी, भौंक रही थी, अपने नवजातों को बचाने की कोशिश कर रही थी। मगर हैवानों की चूंगल से उसके बच्चे नहीं बच पाए। बाद में मृत पपी के नजदीक मां कुतिया को रोते-बिलखते देखा गया।

इस घटना का हृदयविदारक वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर तुरंत वायरल हो गया। इस घटना की तस्वीर देखते ही लोगों को गुस्सा फूट पड़ा। घटनास्थल के पास के लोगों ने इसकी सूचना सामुदायिक पशु रक्षक टीम को दी। जैसे ही यह सामुदायिक पशु रक्षक टीम  घटनास्थल पर पहुंची, उन्होंने देखा कि उन पपी यानी पिल्ले में से एक पपी जिंदा है। वे तुरंत इसे बचाने के लिए जुटे। हालांकि, तीन पिल्ले पहले ही मर चुके थे और वह चौथे को बचाने में जुटे थे। टीम ने पिल्ला को पशु चिकित्सक के पास पहुंचाया। मगर बाद में चौथे पिल्ले की भी मौत हो गई। 

The 'People For Animals' के कार्यकर्ता ने क्रूरता अधिनियम रोकथाम और भारतीय दंड संहिता के तहत एक पुलिस मामला दर्ज कराय। जिसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की और पुलिस अभी सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है। बता दें कि हाल के वर्षों में जानवरों पर अत्याचार के कई मामले सामने आए हैं।

loading...