Breaking News
  • नंदा देवी शिखर के पास ITBP को 7 पर्वतारोहियों के शव मिले
  • हार के बाद अखिलेश-मुलायम पर भड़की मायावती
  • BMC ने CM देवेंद्र फडणवीस के बंगले को घोषित किया डिफॉल्टर
  • संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव आज
  • बांग्लादेश में ट्रेन हादसे में 4 की मौत, 150 से ज्यादा घायल

भारत के अठन्नी से भी कम हुई पाकिस्तानी रूपये की वैल्यू, पाकिस्तान की हालत खराब

नई दिल्ली : लगातार कर्ज के बोझ तले दबा जा रहा पाकिस्तान की हालत की इतनी खराब हो गई हैं कि उसके रूपया का वैल्यू भारत के अठन्नी से भी कम हो गई है। पाकिस्तान के रूपये के गिरती स्तर को चीनी दोस्ती भी नहीं रोक पाई। अब पाकिस्तान आईएमएफ की ओर देख रहा है कि वहां से उसे कोई मदद मिल सकें। लेकिन आईएमएफ ने पहले ही पाकिस्तान से चीन के द्वारा पाक में किये गये निवेश एवं समझौते की जानकारी मांगी थी जिसे पाकिस्तान ने बताने से इंकार कर दिया था। लेकिन अब पाकिस्तान के इस गिरती अर्थव्यवस्था को अब आईएमएफ संभाल सकता हैं। इसलिए हो सकता हैं पाक अपने औऱ चीन के समझौते एवं निवेश का विवरण दे सकें।

1 दिसंबर से बदल गए 5 नियम, परेशानी में पड़ने से पहले जरूर जानें

हालांकि पाकिस्तान सरकार का कहना है कि रूपये के वैल्यू में गिरावट का प्रमुख कारण आईएमएफ से मिलने वाला मदद है। पाकिस्तान का कहना है कि आईएमएफ मदद देने के एवज में रूपये की वैल्यू को कम करने के लिए कह सकता हैं। इसलिए हम पहले से इसकी तैयारी कर रहें है। आपको बता दें कि जहां भारत में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 69.58 के स्तर पर है, वहीं पाकिस्तानी रुपया 144 के स्तर पर पहुंच गया। विदेशी मुद्रा संकट से जूझ रहे पाकिस्तान की मुद्रा शुक्रवार को अब तक के सबसे निचले स्तर तक गिर गई। एक डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपये की विनिमय दर 144 रुपये प्रति डालर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गई। 

LPG सिलेंडर की कीमत में 133 रुपये की बड़ी कटौती, अब ये है नई कीमत

पाकिस्तान में चालू खाता घाटा भी काफी बढ़ गया है। अब उसके पास विदेशी मुद्रा भंडार भी काफी कम है। रुपये में जारी गिरावट पर स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने कहा है, ''यह बाज़ार में जारी उठा-पटक का नतीज़ा है। हालात पर हमलोगों की नज़र बनी हुई है। आपको बता दें कि पाकिस्तानी रुपये में यह गिरावट पाकिस्तान की इमरान खान के नेतृत्व वाली नई सरकार के सत्ता में 100 दिन पूरे होने के एक दिन बाद आई है। इमरान खान की सरकार इन सौ दिनों में देश में निवेश बढ़ाने और उसे विकास के रास्ते पर लाने की उपलब्धि गिना रही है। बृहस्पतिवार को डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया 134 पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान मुद्रा विनिमय बाजार में शुक्रवार को यह 10 रुपये और टूट गया। शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में यह 142 के स्तर पर खुला लेकिन दिन में और दो रुपये टूटकर 144 के स्तर तक गिर गया।

50 साल पुराना है इनकम टैक्स एक्ट, अब होगा बदलाव

स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने पीटीआई-भाषा से कहा, बाजार में अफरा-तफरी का माहौल और डालर लिवाली का जोर है, लेकिन इसका समाधान कर लिया जाएगा। ऐसा माना जा रहा है कि सरकार के अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से ऋण लेने पर चल रही बातचीत को देखते हुये यह गिरावट आई है। विदेशी मुद्रा संकट से जूझ रहे पाकिस्तान ने हाल ही में मुद्रा कोष से राहत पैकेज की मांग की है। इस पर मुद्रा कोष ने पाकिस्तान से चीन से मिलने वाली वित्तीय सहायता की पूरी जानकारी मांगी है। इसके साथ ही अर्थव्यवस्था की मजबूती के वास्ते ईंधन के दाम बढ़ाने और कर दरों में वृद्धि करने को कहा है।

एक बार फिर उत्पन्न हो सकते है नोटबंदी जैसे हालात, बंद हो सकते है...

loading...