Breaking News
  • 21 जून को देश समेत दुनिया के अन्य देशों में अनंतराष्ट्रीय योग दिवस
  • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर देहरादून में पीएम मोदी ने करीब 55 हजार लोगों के साथ किया योग
  • अलग-अलग जगहों पर लगे योग शिविर में शामिल हुए नेता और मंत्री
  • कोटा में दो लाख लोगों को 90 मिनट योग सिखाकर बाबा रामदेव ने बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

खुशखबरी: अब बैंक खाते में रखना होगा इतना बैलेंस नहीं तो...

नई दिल्ली: भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने तमाम आलोचनाओं के बाद खाते में औसत मासिक रकम नहीं रखने वालों को बड़ी राहत देते हुए बैंक द्वारा लगने वाले जुर्माने को 70 प्रतिशत तक कम कर दिया है। एसबीआई ने कहते में न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने वालों पर हर महीने जुर्माना लगाने का प्रावधान किया था।

बतादें कि एसबीआई ने बचत खातों में न्यूनतम रकम नहीं रखने वालों से वसूले जाने वाले जुर्माने में बड़ी कटौती की है। एसबीआई ने अपने ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए अब बैंक में न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने पर लगने वाले जुर्माने में करीब 70 से 75% की कटौती कर दी है। बैंक के इस कदम से करीब 25 करोड़ ग्राहकों को फायदा होगा। जोकि बखत खाता धाराक हैं। बैंक के नये नियमों के अनुसार महानगरों और शहरी क्षेत्रों में बचत खाते में न्यूनतम रकम नहीं रखने पर हर महीने 50 रुपये का जुर्माना वसूला जाता था।

तो बीजेपी ने भी मान लिया कि ‘रम में राम और देशी में हनुमान’ बसे हैं!

जिसके बैंक ने घटाकर महज 15 रुपये कर दिया है। इसी के साथ ही अर्ध-शहरी क्षेत्रों के ग्राहकों के को न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने पर जार महीने 40 रुपये जुर्माना देना पड़ता था जिसे घटाकर 12 रुपये कर दिया गया है। बैंक का नया नियम 1 अप्रैल से लागू होगा। साथ ही बता दूँ कि जुर्माने की रकम के साथ ही 10 रुपये GST भी देना होगा। बैंक ने यह फैसला तमाम प्रतिक्रियाएं मिलने के बाद लिया है। बैंक ने जब यह सरचार्ज लगाया था तब से बैंक की जमकर आलोचना हुई थी। इसको लेकर सरकार तक यह बात पहुंचाई गयी थी। वहीँ अब बैंक ने अपने नियमों को बदल दिया है।

जुर्माने से बैंक ने वसूला करोड़ों   

एक रिपोर्ट में बताया गया था कि बैंक बचत खाता धारकों द्वारा खाते में न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने पर 1,771 करोड़ रकम वसूल ली थी। जिसके बाद बैंक की जमकर आलोचना हुई। वहीँ बैंक द्वारा जुर्माने से वसूली गई रकम जुलाई-सितंबर में बैंक को हुए 1,581.55 करोड़ रुपये के मुनाफे से भी ज्यादा और अप्रैल-सितंबर छमाही में हुए 3,586 करोड़ रुपये के कुल शुद्ध लाभ का करीब-करीब आधी है। जिसके बाद इसको लेकर तमाम प्रतिक्रियाएं दी गयी।

इंडिगो की 47 फ्लाइट्स रद्द, 9 ग्राउंडेड, कारण जान छोड़ देंगे हवाई यात्रा?

वहीँ एसबीआई को देखते हए कई अन्य सार्वजनिक क्षेत्रों के अन्य बैंकों ने भी इसे लागू करने की कोशिश की थी। अभी जो बैंक का नया नियम लागू हुआ है उसमें अगर आपका महानगर में एसबीआई की किसी शाखा में खाता है तो आपको 3,000 रुपये का न्यूनतम बैलेंस रखना होगा, इसके साथ ही शहरी इलाकों में 3,000 रुपये का ऐवरेज बैलेंस रखना होगा जबकि कस्बा और ग्रामीण क्षेत्रों की बैंक में 2,000 और 1,000 रुपये न्यूनतम बैलेंस रखना जरुरी है। यहाँ जनधन-छात्र, पेंशन सहित कई अन्य तरह के खातों को छूट मिली हुई है।   

यह भी देखें-

 

loading...