Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • आतंकवाद के खिलाफ़ कार्रवाई में सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी सफलता, 36 घंटों के अंदर 8 आतंकी ढेर
  • पाकिस्तान ने राष्ट्रीय दिवस पर अलगाववादी नेताओं को किया आमंत्रित, भारत ने जताया सख्त ऐतराज
  • शहीद दिवस पर आजादी के अमर सेनानी वीर भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को नमन कर रहा है देश
  • आज IPL के 12वें सीजन का आरंभ, एम एस धोनी और विराट कोहली आमने-सामने

आसमान पर खुदरा महंगाई, फरवरी में बढ़कर 2.57% हुई

नई दिल्ली: पिछले महीने फरवरी में रिटेल महंगाई की दर बढ़कर 2.57 फीसदी पर पहुंच गई, जिसकी मुख्य वजह खाने-पीने की वस्तुओं की कीमत में बढ़ोतरी बताई जाती है। मौजूदा महंगाई दर अपने चार महीने के उच्च स्तर है। इससे पहले जनवरी में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित खुदरा महंगाई दर 1.97 फीसदी रही थी, जो 19 महीने का निचला स्तर था।

वहीं फरवरी 2018 में यह 4.44 फीसदी रही थी। आंकड़ों के अनुसार, फरवरी में खाद्य मुद्रास्फीति शून्य से 0.66 फीसदी नीचे रही। हालांकि इससे पहले जनवरी में शून्य से 2.24 फीसदी नीचे के मुकाबले मजबूत हुई है। जबकि नवंबर  2018 में मुद्रास्फीति शून्य से 2.33 फीसदी के निचले स्तर पर थी।

इतनी बड़ी बैठक के लिए आखिर कांग्रेस ने गुजरात को ही क्यों चुना?

इससे पहले, नवंबर 2018 में सबसे कम महंगाई दर 2.33 फीसदी रही। बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक मौद्रिक नीति समीक्षा में ब्याज दरों पर फैसला करते समय खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़ों पर गौर करता है। केंद्र सरकार द्वारा जारी अन्य आंकड़ों के मुताबिक, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में नरमी के कारण जनवरी 2019 में औद्योगिक उत्पादन घटकर 1.7 फीसदी रहा, जबकि दिसंबर 2018 में यह 2.4 फीसदी था।

कांग्रेस में शामिल हुए हार्दिक का राहुल ने खुद किया अभिनंदन, इस सीट से लड़ सकते हैं चुनाव

वहीं सीएसओ द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल-जनवरी 2018-19 के दौरान दौरान औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर 4.4 फीसदी रही,  जबकि यह आकड़ा पिछले वित्त वर्ष में 4.1 फीसदी था।

गांधीनगर में प्रियंका की गांधीगिरी ने जीत लिया दिल- दो शब्द कहती हूं जो मेरे दिल में है...

loading...