Breaking News
  • सऊदी अरब में महिलाओं को वाहन चलाने की अनुमति मिल गई
  • पीएम मोदी ने दिल्ली-हरियाणा मेट्रो के ग्रीन लाइन को हरी झंडी दिखाई
  • जीएसटी को लेकर किए गए सारे फैसले सर्वसहमति से किये गए: PM
  • पीएम मोदी ने रेडियो पर मन की बात के 45वें संस्करण को संबोधित किया

RBI का बड़ा ऐलान- रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कटौती

भारतीय रिजर्व बैंक ने आज बुधवार को कुछ ऐसा ऐलान किया है जिससे जनता को थोड़ी राहत जरूर मिल सकती है। दरअसल RBI ने क्रेडिट पॉलिसी समीक्षा में रेपो रेट 0.25 फीसदी घटाने का फैसला किया है। इस फैसले के बाद रेपो रेट कम होकर 6 फीसदी हो गया है। बैंक के इस फैसले का सार्थक असर आम जनता के साथ-साथ कर्ज लेने वाली कंपनियों पर भी होगा।

आपको बता दें कि RBI ने वित्त वर्ष 2018 के लिए जीवीए को अनुमानित 7.3 फीसदी पर बरकरार रखा है। आरबीआई को ऐसा अनुमान है कि रिटेल महंगाई दर 4 फीसदी के आसपास रह सकती है। इस कड़ी में 18 से 24 महीने में रिटेल महंगाई दर 1 फीसदी बढ़ सकती है। बैंक के अनुसार कर्ज माफी के कारण वित्तीय घाटा बढ़ने का अनुमान लगाया जा रहा है।

आपको बता दें कि रिजर्व बैंक की मॉ‍नीटरी पॉलिसी कमेटी के चार सदस्‍यों ने रेपो रेट में कटौती करने के पक्ष में अपनी राय दी थी, जबकि  अन्य 2 सदस्‍य इसके खिलाफ थे, जानकारी के अनुसार एमपीसी की अगली बैठक 3 से 4 अक्‍टूबर को होगी।

कम शब्दों नें RBI के ऐलान

RBI के फैसले को अगर कम शब्दों मे समजा जाए तो RBI ने नीतिगत दरें, रेपो रेट 6.25 फीसदी से घटकर 6 फीसदी कर दिया है तो वहीं रिवर्स रेपो रेट में भी 0.25 फीसदी की कटौती की गई है जिसके बाद यह 5.75 फीसदी पर हैं। MSF दर और बैंक दर 6.5 फीसदी से घटाकर 6.25 फीसदी की गई है तो वित्त वर्ष 2018 के लिए जीवीए अनुमान 7.3 फीसदी पर कायम रखा है और रिटेल महंगाई दर 4 फीसदी रहने का अनुमान है।

loading...