Breaking News
  • नमो एप के जरिए पीएम मोदी ने की सौभाग्य योजना के लाभार्थियों से बात
  • उत्तराखंड: टेहरी जिले में चम्बा-उत्तरकाशी मार्ग पर बस खाई में गिरी, 10 की मौत, तई घायल
  • आडवाणी के करीबी चंदन मित्रा ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, टीएमसी में हो सकते हैं शामिल
  • ग्रे. नोएडा बिल्डिंग हादसे में अबतक 8 की मौत, अथॉरिटी प्रोजेक्ट मैनेजर समेत 3 सस्पेंड

सस्ते कर की आस को झटका: RBI ने नहीं बदली रेपो और रिवर्स रेपो रेट

नई दिल्ली: देश के भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) गवर्नर उर्जित पटेल की अध्यक्ष्यता में हुई मौद्रिक नीति समित की बैठक में आरबीआई ने रेपो और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। इससे पहले दिसम्बर महीने में भी कोई बदलाव नहीं किया गया था।

बतादें कि बुधवार को रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक बाद घोषणा की गयी कि मौद्रिक नीतिगत दरों में अभी कोई बदलाव नहीं हुआ है। जहाँ आरबीआई ने रेपो और रिवर्स रेपो रेट में कोई न बदलाव करते हुए इन्हें तटस्थ रखा है। आरबीआई द्वारा कोई बदलाव न करने से जहाँ रेपो रेट 6 प्रतिशत रिवर्स रेपो रेट 5.75 प्रतिशत मार्जिनल स्टैंडिंग फसिलिटी रेट 6.25 प्रतिशत और बैंक रेट 6.25 प्रतिशत की मौजूदा दर पर ही बना हुआ है।

संसद में बोले PM: आपके पापों की सजा आज पूरा देश भुगत रहा है...

वहीँ सस्ते कर की आस लगाए बैठी जनता को इंतेजार करना पड़ सकता है। हालाँकि उम्मीद है कि अप्रैल में होने वाली बैठक में कोई बदलाव किया जाए।

पंजाब में हो सकता है कांग्रेस का राष्ट्रीय अधिवेशन, सीएम ने जताई इच्छा!

रिजर्व बैंक ने 2017-18 के लिए आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को 6.7 से घटाकर 6.6 फीसदी किया। आरबीआई का अनुमान चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 5.1 फीसदी और अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में 5.1 से 5.6 फीसद रहने की संभावना है। 

loading...