Breaking News
  • आज मनाया जा रहा है विश्व मातृभाषा दिवस, इस साल का थीम है 'सतत विकास के लिए भाषाई विविधता और बहुभाषावाद की संख्या'
  • लखनऊ से बिजनोर लौट रहे नूरपुर से भाजपा विधायक Lokender Singh का सड़क हादसे में निधन, दो की मौत
  • लखनऊ: प्रधानमंत्री मोदी द्वारा निवेशकों के शिखर सम्मेलन का उद्घाटन
  • मुख्य सचिव के साथ बदसलूकी के आरोप में AAP विधायक प्रकाश जरवाल गिरफ्तार
  • PNB घोटाला: जीएम रैंक के अधिकारी Rajesh Jindal गिरफ्तार, 2009 से 2011 के बीच थे शाखा के प्रमुख

अब आपको भी मिल सकता है सस्ता डीजल-पेट्रोल?

नई दिल्ली: डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से आपको भी दो-चार होना ही पड़ा होगा, ऐसे में आपके लिए एक खुशखबरी है। अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में कीमतों में गिरावट की संभावना दर्ज की गयी है। ऐसे में अगर कच्चे तेल की कीमतें गिरती हैं तो देश में डीजल-पेट्रोल के दाम भी सस्ते हो सकते हैं।

बतादें कि डीजल-पेट्रोल को लेकर भले ही सरकार आम जनता को राहत देने में असफल रही हो लेकिन अब अंतर्राष्ट्रीय बाजार से बड़ी खबर आ रही है। दरअसल अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आ रही है। जिसके कारण देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में गिरावट आनी शुरू हो गई है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आ रही तेजी अब एक जगह पर रुक गयी है। वहीँ कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से तेल की कीमतों में टूटने की उम्मीद है।

खुशखबरी: छात्रों को 80000 हजार तक मासिक स्कॉलरशिप देगी केंद्र सरकार, कैबिनेट से मिली मंजूरी

बताया जा रहा है कि कच्चे तेल की आसमान चढ़ी कीमतें कुछ ही समय में 62 डॉलर प्रति बैरल तक आ सकती हैं। अगत अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें गिरेंगे तो इसका सीधा असर देश की तेल कीमतों पर पड़ेगा। विशेषज्ञों के मुताबिक यूएस में कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ा है। सौर ऊर्जा के चलन से जहाँ दुनियाभर में तेल की डिमांड घटी है।
 
जिससे कच्चे तेल की कीमतें लगातार नीचे आ रही हैं। मतलब यह है कि अगर अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें गिरती है तो देश में भी तेल की कीमतों में गिरवाट आयेगी। जिससे आम जनता को कुछ राहत महसूस होगी। अभी दिल्ली में पेट्रोल 73.33 और डीजल 64.09 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।
यह भी देखें-

loading...