Breaking News
  • आज मनाया जा रहा है विश्व मातृभाषा दिवस, इस साल का थीम है 'सतत विकास के लिए भाषाई विविधता और बहुभाषावाद की संख्या'
  • लखनऊ से बिजनोर लौट रहे नूरपुर से भाजपा विधायक Lokender Singh का सड़क हादसे में निधन, दो की मौत
  • लखनऊ: प्रधानमंत्री मोदी द्वारा निवेशकों के शिखर सम्मेलन का उद्घाटन
  • मुख्य सचिव के साथ बदसलूकी के आरोप में AAP विधायक प्रकाश जरवाल गिरफ्तार
  • PNB घोटाला: जीएम रैंक के अधिकारी Rajesh Jindal गिरफ्तार, 2009 से 2011 के बीच थे शाखा के प्रमुख

मिलेगा सस्ता तेल: भारत ने खरीदी तेल उत्पादक देश से 10 प्रतिशत की हिस्सेदारी

नई दिल्ली: भारत सरकार ने सऊदी अमीरात की धरती पर अबतक की सबसे बड़ी डील की है। करीब 60 करोड़ डॉलर से हुई इस डील में भारत ने सऊदी अरब से 10 फीसद कच्चे तेल की हिस्सादारी खरीदी है। इस हिस्सेदारी से भारतीय तेल कंपनियों को कच्चा तेल मिलेगा। जिससे भारत की ऊर्जा क्षेत्र की जरूरतों को पूरा किया जायेगा।

बतादें कि नरेन्द्र मोदी के सऊदी अरब की धरती पर अबतक का सबसे बड़ा समझौता किया है। नरेन्द्र मोदी और प्रिंस क्राउन की मौजूदगी में ओएनजीसी की सब्स‍िड‍ियरी ओएनजीसी विदेश, इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन ने एडनॉक के अबु धाबी स्थ‍ित ऑयल फील्ड में 68 करोड़ डॉलर (3855 करोड़) में 10 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीदी है।

‘पैडमैन’ दे रही है ‘पद्मावत’ को टक्कर!

इस डील से भारतीय तेल कम्पनियों को कच्चा तेल मिलेगा। अबू धाबी के भण्डारण केंद्र से हर वर्ष 2 करोड़ टन तेल का उत्पादन होता है। जिसमें डील होने के बाद अब 20 लाख टन कच्चा तेल भारत को मिलेगा। वहीँ जैसे जैसे तेल का उत्पादन बढ़ेगा वैसे वैसे भारतीय कंपनियों का शेयर भी बढ़ता जाएगा।

अब संघ मुक्त नहीं ‘संघ युक्त’ है सीएम नीतीश कुमार?

इस डील के डन होने से देश में आगामी समय में तेल की कीमतों में कमी आने की संभावना है। साथ ही भारत ने देश में बढती तेल की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए यह डील की है। अभी देशभर में तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। वहीँ इस डील भारत को अपनी हिस्से दारी का करीब 20 लाख टन कच्चा तेल मिलेगा, जोकि भारतीय ऊर्जा की जरूरतों को पूरा करेगा।   

यह भी देखें-

loading...