Breaking News
  • एशियाई खेलः बजरंग पुनिया जीता पहला गोल्ड मेडल, किया दिवंगत अजट जी को समर्पित
  • एशियाई खेलः 10 मी. एयर राइफल में दीपक कुमार ने जीता रजत पदक
  • कर्नाटक के कई तटीय जिले बाढ़ की चपेट में, बचाव एवं राहत अभियान जारी

बड़ी खबर: भारत-एंटीगुआ के बीच हुई प्रत्यर्पण संधि, जल्द भारत आएगा चोकसी

नई दिल्ली: भारत और एंटीगुआ के बीच प्रत्यर्पण संधि होने की खबर आ रही है। भारत सरकार और एंटीगुआ अथॉरिटी ने अब प्रत्यर्पण संधि पर साइन कर दिए हैं। जिसके बाद पीएनबी फ्रॉड केस के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी को भारत लाने का रास्ता भी साफ़ हो गया है।

बतादें कि पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को हजारों करोड़ का चूना लगाकर देश से फरार हुए मेहुल चोकसी और नीरव मोदी को भारत लाने के लिए सरकार बड़े प्रयास कर रही है। उन्ही प्रयासों को लगातार सफलता भी मिल रही है। कुछ ही समय पहले जांच एजेंसी को जानकारी लगी थी पीएनबी फ्रॉड के एक आरोपी मेहुल चोकसी ने एंटीगुआ की नारिकता हासिल कर ली है। जिसके बाद भारत ने भी एंटीगुआ अथॉरिटी से संपर्क साधते हुए मेहुल चोसकी को तुरंत हिरासत में लेकर उसकी सभी गतिविधियों पर रोक लगाने की अपील की थी।

त्रिपुरा: तीन दिन में 37 बार बदला गया सीएम बिप्लब देब का जन्मस्थान?

वहीँ अब खबर आ रही है कि भारत और एंटीगुआ के बीच 1962 के प्रावधान के तहत प्रत्यर्पण संधि पर हस्ताक्षर हो गये हैं। अभी तक भारत और एंटीगुआ के बीच प्रत्यर्पण संधि नहीं हुई थी। जिसका मेहुल चोकसी ने फायदा उठाने की कोशिश की और बहुत हद तक उसे इसका फायदा मिल भी गया। क्योंकि एंटीगुआ ने उसे पहले ही देश की नागरिकता दे दी थी।

देवरिया कांड: छुड़ाई गईं 24 लड़कियां, योगी की कड़ी कार्रवाई डीएम-डीपीओ सस्पेंड!

लेकिन भारत और एंटीगुआ के बीच हुए प्रत्यर्पण संधि के बाद अब मेहुल चोकसी की सारी उम्मीदों पर पानी फिर गया है क्योंकि उसे एंटीगुआ में कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है। वहीँ पीएनबी फ्रॉड के आरोपी मेहुल चोकसी को अब आसान से कानून तरीके से भारत लाया जा सकता है। वहीँ एंटीगुआ अथॉरिटी के साथ मिलकर भारतीय एजेंसियां उसतक पहुंचने के लिए हरसंभव विकल्प पर काम कर रही हैं।

यह भी देखें-

 

loading...