Breaking News
  • जो राम का नहीं, वो किसी काम का नहीं-धमतरी में CM योगी
  • दौसा के बीजेपी सांसद हरीश मीणा कांग्रेस ज्वॉइन करेंगे
  • गहलोत बोले, मैं और सचिन पायलट मिलकर लड़ेंगे चुनाव
  • SC ने प्रशांत भूषण से कहा, कोर्ट में उतना ही बोलें जितना ज़रूरी हो

नूडल बेचने वाली सैमसंग कैसे बनी दुनिया की दिग्गज मोबाइल कंपनी!

नई दिल्ली: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून-जे-इन सोमवार को भारत में सबसे बड़ी मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का उद्घाटन कर रहे हैं। यह प्लांट साउथ कोरिया की दिग्गज कंपनी सैमसंग का है, जो दिल्ली से सटे नोएडा सेक्टर 18 में करीब 35 एकड़ में फैला है।

क्योंकि आज सैमसंग के लिए बेहद ही खास दिन है, लिहाजा आप सैमसंग से जुड़ी कुछ ऐसी बतें बता रहे हैं, जिसे शायद आप अब तक नहीं जानते होंगे। दरअसल, सैमसंग कंपनी काफी पुराना है लेकिन कंपनी की शुरुआत टेक कंपनी के तौर पर नही बल्कि खाद्य पदार्थ बनाने वाली कंपनी के तौर पर हुई थी।

भारत में दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट, जाने बड़ी बातें

आपको बता दें कि सैमसंग की स्थापना साल 1938 में बायुंग-चुल ली ने की थी, शुरुआती दिनों में यह कंपनी खाद्य पदार्खथों का निर्यातक थी, जो उस समय नूडल बनाने का सामान, आटा और मछली चीन समेत अन्य देशों में किया करती थी। हालांकि समय के साथ आगे बढ़ते हुए कंपनी ने अन्य कारोबार में भी हाथ आजमाया।

खबरों के अनुसार, साल 1950 से 1960 के बीच कंपनी ने जीवन बीमा और टेक्सटाइल्स के क्षेत्र कदम बढ़ाया और फिर साल 1969 में सैमसंग इलेक्ट्रोनिक्स का आगाज हुआ। जो खासत पर टीवी बनाने का काम करती थी और कंपनी ने अपनी पहली ब्लैक एंड व्हाइट टीवी 1970 में बाजार में लाया।

एक भाई IPS बनकर देश सेवा कर रहा है, दूसरे ने थामा आतंक का दामन

साल 1980 के बाद कंपनी मोबाइल फोन और  मेमोरी कार्ड के साथ कंप्यूटर पार्ट्स बनाने का काम शुरु किया और हाल के दिनों में कंपनी दुनिया से दिग्गज मोबाइल निर्माता कंपनियों में से एक हैं और अब कंपनी ने अपना ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे बड़ी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भारत में शुरू किया है।

हाल के दिनों में कंपनी के देश प्रमुख मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नोएडा और श्रीपेरुंबदूर में स्थित है, जबकि भारत में कंपनी के पांच आरएंडडी सेंटर के साथ-साथ 1.5 लाख रिटेल आउटलेट भी हैं। बताया जाता है कि भारत में सैमसंग फिलहाल 6.7 करोड़ स्मार्टफोन बनाती है, लेकिन अब  इस नये प्लांट के शुरू होने के बाद प्रोडक्शन की संख्या करीब 12 करोड़ के आस-पास तर पहुंच जाएगी।

loading...