Breaking News
  • अंडमान के हैवलॉक द्वीप पर 800 टूरिस्टं फंसे, नेवी का रेस्यूंद्र ऑपरेशन
  • राज्यसभा और लोकसभा में नोटबंदी पर हंगामा
  • श्रीहरिकोटा: सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से दूरसंवेदी उपग्रह RESOURCESAT-2A का सफल प्रक्षेपण

नोटबंदी से सरकार को करीब 4 लाख करोड़ का फायदा!

नई दिल्ली: देश भार में जारी नोटबंदी को लेकर शायद ही कोई ऐसा शख्स होगा जो फिलहाल के दिनों में इस पर चर्चा से वंचित रहा हो। एक ओर सरकार अपने नोटबंदी के फैसले को जनता के हित में करार दे रही है, तो वहीं विपक्ष सरकार के इस फैसले को जनता के लिए कष्टदायक बता कर सरकार को घेरने के प्रयास में लगी है।

इस बीच यह बात जानना बेहद जरूरी है कि नोटबंदी के इस फैसले से सरकार और देश को कितना फायदा हो रहा है, और आगे कितना फायदा हो सकता है। इस खबर पर जानकारों का कहना है कि नोटबंदी के फैसले से लोन की दरें सस्ते हो सकते है। क्योंकि फिलहाल के दिनों ने ब्याज दर निचले स्तर पर है, और इसका बजह है नकदी का ज्यादा आना।

खबरों के अनुसार देश में नोटबंदी के बाद से अब तक बैंकों में करीब 4 लाख करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं, और ये ऐसी रकम है, जिसपर सेविंग अकाउंट के लिए बैकों को काफी कम ब्याज देना होता है, जबकि करंट अकाउंट के लिए कुछ भी नहीं देना होता है। बताया जा रहा है कि  बाजार में नकदी ज्यादा आने से दस साल के ब्रांड पर ब्याज दर फिलहाल सबसे निचले स्तर पर आ गई है।

आपको बता दें कि फिलहाल दस साल के ब्रांड पर ब्याज दर 6.43 % पर पहुंच गई है और जानकारों का मानना है कि यदी सब ठिक रहा और नकदी सस्ती रही तो ब्याज दर में काफी कमी आ सकती है, और इसके फायदे आम जनता को ही मिलने वाले है। इसका असर घर या गाड़ी के लिए लोन लेने पर देखने को मिल सकता है।

खबरों के अनुसार 500 और 1000 के नोटों की कुल वैल्यू 14 लाख करोड़ के आस पास बताई जा रही है, और सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को भी बताया है, कि सरकार के इस फैसले से करीब 10 लाख करोड़ रुपये जमा होने वाले है, ऐसे में बाकि के 4 लाख करोड़ RBI के अकांउड में जा सकते है, जिससे इस बात के कयास लगाए जा रहे है कि सरकार को इस फैसले से 4 लाख करोड़ का फायदा हो सकता है।