Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • प्रमोद सावंत ने 11 मंत्रियों के साथ ली गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ
  • राजनयिकों को परेशान करने पर भारत ने #Pakistan को सुनाई खरी-खरी
  • आतंकियों के खिलाफ एयर स्ट्राइक के कारण NDA को 13 सीटों का फायदा: सर्वे

# MeToo के चपेट में गूगल भी, 13 सीनियर अफसरों समेत 48 कर्मचारियों पर गिरी गाज

नई दिल्ली : # MeToo के कारण गूगल ने 2 साल में अपने 13 सीनियर अफसरों समेत 48 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया दिया हैं। इसके साथ ही उन्होंने किसी को एक्जिट पैकेज भी नहीं दिया। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि हमारी कंपनी किसी भी तरह की गलत हरकत को बर्दाश्त नहीं करेगी। यौन उत्पीड़न के मामले में हमारी कंपनी सख्त कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध है।

BCCI के इस बड़े अधिकारी पर लगा बड़ा गंभीर आरोप, जॉब देने के एवज में की थी ऐसी मांग

आपको बता दें कि न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी एक खबर ने गूगल पर यह आरोप लगाया था कि गूगल ने एंड्रायड के जनक एंडी रूबुन को 90 करोड़ डॉलर का एक्जिट पैकेज दिया था। जबकि उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लग चुका था। वहीं दूसरे कर्मचारियों को यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद किसी भी तरह का कोई पैकेज नहीं दिया गया। जिसका जवाब देते हुए गूगल के सीइओ सुंदर पिचाई ने कहा कि एंडी रूबिन पर जारी की गई रिपोर्ट को समझना कठिन है। लेकिन गूगल के वर्कप्लेस पर बेहतर माहौल बनाने का प्रयास करेगा। ऐसे मामलों में गूगल लगातार बड़े एक्शन ले रहा है।

#MeToo: सैफ ने किया चौंकाने वाला खुलासा, कहा- 25 साल पहले मेरे साथ..

पिचाई ने सैन फ्रांसिस्को में दावा किया कि जिन लोगों को यौन उत्पीड़न के आरोप में निकाला गया उनमें से किसी को भी एक्जिट पैकेज नहीं दिया गया है। छोटी से छोटी शिकायत पर भी गूगल एक्शन लेने के लिए प्रतिबद्ध है।  न्यू यॉर्क टाइम्स में छपी रिपोर्ट में आरोप लगाया गया था कि यौन उत्पीड़न के आरोप में गूगल ने अपने 3 बड़े अधिकारियों को निकाल दिया। इनमें एंडी रूबिन का नाम लिखा गया था जबकि 2 के नाम नहीं बताए गए थे। तब के कार्यकारी अधिकारी लैरी पेज को कंपनी ने मेल कर जानकारी दी थी कि यौन उत्पीड़न के आरोप में एंडी रूबिन को निकाला गया। जिन पर एक महिला ने आरोप लगाया था रूबिन ने 2013 में उन्हें होटल के कमरे में बुलाया था।

#MeToo कैंपेन की सराहना करते हुए बिपाशा ने साजिद को बताया, वो खुलेआम..

वहीं रूबिन के प्रवक्ता ने यौन उत्पीड़न के आरोप को खारिज कर दिया। उन्होंने बताया कि रूबिन ने अपने मन से कंपनी छोड़ी थी।

loading...