Breaking News
  • नागरिकों से अपील कि मुठभेड़ वाली जगहों से दूर रहें- सेना
  • दिल्ली में फिर 71 रुपये लीटर हुआ पेट्रोल, डीजल भी महंगा
  • मोदी ने छत्रपति शिवाजी को जयंती पर श्रद्धांजलि दी
  • प्रधानमंत्री का वाराणसी दौरा , कई करोड़ योजनाओं की दिया सौगात

सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था वाले राज्य की राजधानी पर खर्च होंगे 109023 करोड़ रुपये

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश के वित्त मंत्री वाई. रामकृषनुडु ने मंगलवार को विधानसभा में बजट पेश करते हुए एक बड़ा दावा करते हुए राज्य को देश की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के रूप में उभरने वाले राज्य के तौर पर पहचान करवाई। उन्होंने दावा किया कि इसमें दोहरे अंकों में वृद्धि दर दर्ज की गई है।

वित्त मंत्री ने बजट पेश करते हुए कहा कि साल 2014 में जब राज्य का विभाजन हुआ था, तब राजधानी के नुकसान, राजस्व, संपत्तियों और देनदारियों के अनुचित विभाजन के कारण चारो तरफ निराशा का माहौल था, लेकिन अब राज्य देश की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के रूप में उभरा है।

उन्होंने कहा कि, आंध्र प्रदेश की औसत वृद्धि दर 10.66 फीसदी दर्ज की गई है, जबकि भारत की वृद्धि दर पिछले साढ़े चार सालों में 7.3 फीसदी रही है। राज्य में कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर 11 फीसदी रही है, जबकि देश की औसत वृद्धि दर 2.4 फीसदी है। राज्य में उद्योग क्षेत्र में वृद्धि दर 9.52 फीसदी रहा जबकि देश की औसत वृद्धि दर 7.1 फीसदी है। सेवा क्षेत्र में राज्य की वृद्धि दर 9.57 फीसदी है जबकि पूरे देश की औसत वृद्धि दर 8.8 फीसदी है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश है कि आंध्र की नई राजधानी अमरावती को दुनिया के पांच सबसे अच्छे शहरों में से एक बनाने की है। राज्य की राजधानी अमरावती के निर्माण पर करीब 1,09,023 करोड़ रुपये खर्च का अनुमान है। जिसके प्रथम चरण में कुल 51,687 करोड़ रुपये खर्च होंगे जबकि 39,875 करोड़ की परियोजनाओं पर काम जारी है।

आपको बता दें कि अमरावती आन्ध्र प्रदेश की प्रस्तवित राजधानी है, जिसका निर्माण कृष्णा नदी के दक्षिणी तट पर किया जाएगा। राज्य की राजधानी का नाम "अमरावती", अमरावती मंदिर के ऐतिहासिक शहर, जो सतवाहन राजवंश के तेलगु राजाओं की प्राचीन राजधानी से लिया गया है।

गुंटूर और विजयवाड़ा के महानगरीय क्षेत्र मिला कर अमरावती महानगर का निर्माण किया जा रहा है। जो राज्य की राजधानी होगी। उदंडरायणपालम इलाके में 22 अक्टूबर 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नींव का पत्थर रखा था।

एक साल के लिए आंध्र प्रदेश का बजट 2.26 लाख करोड़, किसानों के लिए 'अन्नदाता सुखीभवा'

 

loading...