Breaking News
  • तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के प्रमुख के.चंद्रशेखर राव दूसरी बार बने मुख्यमंत्री
  • बीजेपी की संसदीय दल की बैठक, पीएम मोदी भी शामिल
  • जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच बारामुला में मुठभेड़, दो आतंकी ढेर
  • संसद पर हुए आतंकी हमले की 17वीं बरसी, शहीदों को दी जा रही है श्रद्धांजलि

रेलवे की अनोखी स्कीम : अब वेटिंग टिकट होने पर भी मिलेगी कन्फर्म सीट, जानिए कैसे

नई दिल्ली : रेलवे अपने उन सभी यात्रीयों के लिए के लिए एक अनोखा स्कीम लाया हैं, जो ये सोचते हैं कि उनकी वेटिंग टिकट कन्फर्म होगी या नहीं। अभी वैसे भी पर्व-त्यौहार के समय के सीट के कन्फर्म होने के चांसेज कम हो जाते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, इन्हीं बातों के ध्यान में रखकर रेलवे एक ऐसा स्कीम लेकर आया हैं जिससे आपकी समस्या का समाधान हो। आइये हम बताते हैं कि आपको कैसे वेटिंग टिकट होने के बावजूद भी कन्फर्म सीट मिलेगा।

पंचायत का काला फरमान, दोनों पतियों को खुश करों, पुलिस प्रशासन भी मौन

रेलवे की इस स्कीम का नाम है विकल्प योजना। वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को इस योजना के अंतर्गत वैकल्पिक ट्रेन में कंफर्म सीट मुहैया कराई जाएगी। हालांकि, रेल यात्रियों द्वारा इस विकल्प का चयन करने का यह बिल्कुल मतलब नहीं है कि उन्हें दूसरी ट्रेन में सीट मिल ही जाएगी। यह बात ट्रेन सीटों के अवेलेबल होने पर निर्भर करती है। दूसरी ट्रेन (अल्टरनेटिव ट्रेन) में सीट कंफर्म होने पर, कैंसीलेशन चार्जेज दूसरी ट्रेन में आपकी सीट के अनुसार होगा। योजना में बोर्डिंग और अंतिम स्टेशन आस-पास के क्लस्टर स्टेशनों में बदल सकता है। जिस ट्रेन में बुकिंग की गई है, उसके तय प्रस्थान समय से 72 घंटे में उपलब्ध वैकल्पिक ट्रेन में ही यात्री भेजे जाएंगे।

20 साल के युवक के साथ फरार हुई 50 साल की महिला, बनाया था...

आपको बता दें कि यह योजना दिल्ली-लखनऊ व दिल्ली-जम्मू सेक्टर में पायलट आधार पर शुरू हो रही है। विकल्प चुनने वाले यात्री, जिन्हें वैकल्पिक ट्रेन में सीट दी गई है उन्हें उनके वास्तविक ट्रेन के चार्ट की प्रतीक्षारत सूची में नहीं दर्शाया जाएगा। कंफर्म और प्रतीक्षारत चार्ट के साथ ही एक अलग सूची लगाई जाएगी, जिस पर वैकल्पिक ट्रेन में शिफ्ट होने वाले यात्रियों की सूची होगी। जिस यात्री को वैकल्पिक ट्रेन में सुविधा दी गई है, वह वास्तविक ट्रेन की मूल टिकट के अधिकार पर यात्रा कर सकता है।

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से भी बड़े रूतबेकार हैं उनके मंत्री, बीच रास्ते में ही...

कुछ मामलों में यात्री को वैकल्पिक सुविधा दी गई है औैर चार्ट बनने के समय आखिरी समय में किसी कारण से वैकल्पिक ट्रेन में आवंटन रद्द हो सकता है। इसलिए जिस यात्री को वैकल्पिक सुविधा दी गई है उसे वैकल्पिक ट्रेन का चार्ट बनने पर अंतिम स्थिति जांचने के लिए पीएनआर स्थिति की जांच करनी चाहिए।

बीजेपी विधायक के बेटे ने दी पीएम मोदी और योगी को गाली, कहा ये अपशब्द

loading...